भारत में अक्टूबर से शुरू होंगी 5G सेवाएं : केंद्र सरकार

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने 1 अगस्त को कहा कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी सरकार को कुल मिलाकर 1.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक की बोली के साथ संपन्न हुई है। पिछले सात दिनों में 40 दौर की बोली के माध्यम से नीलामी हुई। मंत्री ने कहा कि सरकार को कुल बोली राशि 1,50,173 करोड़ रुपये मिली है। स्पेक्ट्रम आवंटन 10 अगस्त तक पूरा हो जाएगा, वैष्णव ने कहा, खरीदे गए स्पेक्ट्रम की मात्रा पूरे देश को 5G के साथ कवर करने के लिए पर्याप्त है।

भारत में 5G

भारत में 5G सेवाएं अक्टूबर में शुरू की जाएँगी। शुरू में यह सेवाएं दिल्ली, मुंबई, पुणे, बंगलुरु और जामनगर जैसे शहरों के यूजर्स के लिए उपलब्ध होंगी।  इस बोली में रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन आईडिया लिमिटेड और अदानी डाटा नेटवर्क्स ने भाग लिया है।

5G स्पेक्ट्रम का महत्व

  • पांचवीं पीढ़ी या 5G स्पेक्ट्रम अल्ट्रा-हाई स्पीड ऑफर करता है, जो 4G की स्पीड से 10 गुना ज्यादा है।
  • यह लैग-फ्री कनेक्टिविटी (lag-free connectivity) भी प्रदान करेगा।
  • यह अंततः कनेक्टेड डिवाइसेस को रीयल-टाइम में डेटा साझा करने में सक्षम बनाएगा।
  • 5G स्पेक्ट्रम अल्ट्रा-लो लेटेंसी कनेक्शन को भी पावर देता है, जिससे कुछ सेकंड में मोबाइल डिवाइस पर फुल-लेंथ हाई-क्वालिटी मूवी या वीडियो डाउनलोड किया जा सकता है।
  • यह ई-स्वास्थ्य, जीवन रक्षक उपयोग के मामले, कनेक्टेड वाहन, उन्नत मोबाइल क्लाउड गेमिंग और इमर्सिव ऑगमेंटेड रियलिटी और मेटावर्स अनुभव जैसे समाधानों को भी सक्षम करेगा।

 

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments