भारत में कोविड-19 परीक्षण ने 15 करोड़ का आंकड़ा पार किया

भारत ने कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में एक और मील का पत्थर पार कर लिया है। देश में कोविड-19 परीक्षण ने 15 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है। पिछले 24 घंटों के दौरान, 9,22,000 से अधिक नमूनों का परीक्षण किया गया।

मुख्य बिंदु

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार पिछले दस दिनों में एक करोड़ COVID परीक्षण किए गए। लगातार व्यापक परीक्षण के परिणामस्वरूप सकारात्मकता दर में कमी आई है। पिछले 24 घंटों में देश में 31,522 नए Covid-19 संक्रमण के मामले सामने आये हैं। पिछले 24 घंटों में 37,725 लोगों को छुट्टी दे दी गई है। और रिकवरी दर 94.74 फीसदी पर पहुंच गई है।

भारत में कोविड-19 परीक्षण

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि बहुत उच्च स्तर के परीक्षण से पहचान, शीघ्र अलगाव और COVID-19 मामलों का प्रभावी उपचार सुनिश्चित होता है। गृह मंत्रालय के अनुसार शीघ्र निदान से मृत्यु दर भी कम रहती है। परीक्षण की अधिक मात्रा ने कम दैनिक सकारात्मकता दर भी सुनिश्चित की है जो 4 प्रतिशत से नीचे बनी हुई है। गौरतलब है कि डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार प्रति मिलियन आबादी के दैनिक परीक्षण की संख्या के मुकाबले भारत लगभग 5 गुना अधिक टेस्ट कर है।

केंद्र सरकार और ICMR ने बड़े पैमाने पर टेस्टिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया है। इस साल जनवरी में पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में सिर्फ एक परीक्षण प्रयोगशाला से शुरू होकर, देश में आज कोविद के नमूनों के परीक्षण के लिए 2,172 प्रयोगशालाएं हैं, जिनमें 1,176 सरकारी और 996 निजी प्रयोगशालाएं शामिल हैं। भारत की परीक्षण क्षमता ने प्रतिदिन 15 लाख का आंकड़ा छू लिया है।

भारत के वैज्ञानिक अनुसन्धान संस्थान कोविड-19 के लिए लगातार नयी परीक्षण पद्धतियों का विकास कर रहे हैं। इसके अलावा देश में स्वदेशी व विदेशी कोरोनावायरस के टीकों का विभिन्न चरणों का परीक्षण भी चल रहा है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments