भारत में फेसबुक की पहली नवीकरणीय परियोजना

फेसबुक ने हाल ही में CleanMax नामक एक स्थानीय फर्म से भारत में नवीकरणीय ऊर्जा खरीदने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।यह भारत में फेसबुक की पहली नवीकरणीय परियोजना है।

परियोजना के बारे में

  • यह परियोजना कर्नाटक में स्थित है।
  • इसकी क्षमता 32 मेगावाट है।
  • परियोजना के तहत फेसबुक और क्लीनमैक्स भारत के इलेक्ट्रिकल ग्रिड में नवीकरणीय ऊर्जा प्रदान करने के लिए मिलकर काम करेंगे।
  • फेसबुक अपने डेटा सेंटर को उर्जा देने के लिए क्लीनमैक्स से खरीदी गई अक्षय ऊर्जा का उपयोग करेगा। फेसबुक 2022 में डेटा सेंटर का संचालन शुरू करेगा।
  • फेसबुक ने सिंगापुर में ऊर्जा प्रदाताओं के साथ इसी तरह के समझौते किए थे जैसे कि टेरेनस एनर्जी, सनसैप ग्रुप, सेम्बकॉर्प इंडस्ट्रीज।ये परियोजनाएं 160 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन करने में सक्षम हैं।

भारत में डेटा सेंटर 

  • भारतीय डेटा सेंटर का राजस्व साल दर साल 20% बढ़ने की उम्मीद है।
  • पिछले वर्ष की तुलना में COVID-19 ने भारत में डेटा खपत में 38% की वृद्धि की है।
  • भारत डेटा सेंटर उद्योग वैश्विक हिस्सेदारी का केवल 1% से 2% है। 2023 में इसके 4% तक बढ़ने की उम्मीद है।
  • डेटा सेंटर मुख्य रूप से डेटा के संग्रह, डेटा के वितरण और डेटा के प्रसंस्करण के लिए स्थापित किए जाते हैं।
  • 2040 तक 14% कार्बन उत्सर्जन में डेटा सेंटर का का योगदान होगा। यह एक प्रमुख कारण है कि फेसबुक अपने डेटा सेंटर को बिजली देने के लिए हरित ऊर्जा विकल्पों की ओर रुख कर रहा है।

ड्राफ्ट डेटा सेंटर पॉलिसी

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ड्राफ्ट डेटा सेंटर नीति जारी की है। इसका उद्देश्य भारत में डेटा सेंटर स्थापित करने के लिए मंजूरी को आसान बनाना है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments