भारत में मंकीपॉक्स की स्थिति पर नजर रखने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया

केंद्र सरकार ने देश में मंकीपॉक्स की स्थिति की निगरानी के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया है। इसे मंकीपॉक्स से संबंधित पहली मौत की सूचना देने के बाद बनाया गया है। यह टास्क फोर्स भारत में इस बीमारी के लिए नैदानिक ​​सुविधाओं के विस्तार और टीकाकरण की खोज के संबंध में सरकार को मार्गदर्शन प्रदान करेगी।

  • टास्क फोर्स का नेतृत्व नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी.के. पॉल करेंगे।
  • अन्य सदस्यों में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव और फार्मा और बायोटेक के सदस्य शामिल हैं।

भारत में अब तक मंकीपॉक्स के चार मामले सामने आए हैं, जिनमें से तीन मामले केरल में और एक दिल्ली में सामने आया है। केरल में मंकीपॉक्स जैसे लक्षणों वाले एक युवक की जान चली गई। इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने उच्च स्तरीय जांच शुरू की थी। 

दुनिया भर में मंकीपॉक्स के मामले

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, 78 देशों में मंकीपॉक्स के 18,000 से अधिक मामले सामने आए हैं।

मंकीपॉक्स (Monkeypox)

मंकीपॉक्स एक जूनोटिक रोग है। यह मंकीपॉक्स वायरस के कारण होता है। यह वायरस चेचक पैदा करने वाले विषाणुओं के एक ही परिवार का है। यह पश्चिम और मध्य अफ्रीका जैसे क्षेत्रों में स्थानिक है। हालांकि, गैर-स्थानिक देशों से भी मामले सामने आ रहे हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments