भारत संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिकों को 2 लाख कोविड वैक्सीन उपहार में देगा

संयुक्त राष्ट्र के शांति सैनिकों (UN Peacekeepers) को भारत COVID-19 टीकों (AstraZeneca वैक्सीन) की 2,00,000 खुराक भेजेगा।

मुख्य बिंदु

फरवरी 2021 में संयुक्त राष्ट्र के शांति सैनिकों को 2,00,000 कोविड-19 खुराक देने की घोषणा विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने की थी। यह निर्णय इस बात को मध्यनजर रख कर लिया गया था कि संयुक्त राष्ट्र के शांति सैनिक कठिन परिस्थितियों में काम करते हैं।

दुनिया भर में योगदान

2,00,000 खुराकों का भारत का उपहार संयुक्त राष्ट्र के सभी शांति सैनिकों के लिए COVID-19 टीकों की दोहरी खुराक की आवश्यकता को पूरा करेगा। संयुक्त राष्ट्र पीसकीपिंग के अनुसार 31 जनवरी, 2021 तक दुनिया भर में शांति अभियानों के नेतृत्व में 12 शांति अभियानों में कुल 85,782 व्यक्ति सेवाएं दे रहे हैं। कुल 121 देश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा अभियानों के लिए सैन्य कर्मियों का योगदान दे रहे हैं। भारत शांति अभियानों के लिए सबसे बड़ा सैन्य योगदान देने वाला देश है।

संयुक्त राष्ट्र शांति स्थापना (UN Peacekeeping)

यूएन पीसकीपिंग शांति संचालन विभाग (Department of Peace Operations) द्वारा आयोजित एक भूमिका है। यह एक अद्वितीय और गतिशील उपकरण है जिसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा स्थायी-शांति की स्थिति बनाने के लिए एक संघर्ष से प्रभावित देशों की मदद करने के लिए विकसित किया गया है।

शांति सैनिक संघर्ष के बाद के क्षेत्रों में शांति प्रक्रियाओं की निगरानी और निरीक्षण करते हैं। वे शांति समझौते को लागू करने के लिए पूर्व-लड़ाकों की सहायता करते हैं संयुक्त राष्ट्र के शांति सैनिकों को उनके हल्के नीले रंग के हेल्मेट के कारण ब्लू बेरेट (Blue Berets) या ब्लू हेल्मेट (Blue Helmets) भी कहा जाता है। उनमें पुलिस अधिकारी, सैनिक, पुलिस अधिकारी और नागरिक कर्मचारी शामिल होते हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments