भारत-सिंगापुर ने UPI और PayNow को जोड़ने की घोषणा की

भारत और सिंगापुर ने यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) और PayNow को जोड़ने की घोषणा की है, ताकि यूजर्स तत्काल, कम लागत में फंड ट्रांसफर कर सकें।

मुख्य बिंदु 

  • भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) और सिंगापुर के मौद्रिक प्राधिकरण (MAS) द्वारा दोनों देशों की तेज़ भुगतान प्रणालियों को जोड़ने की परियोजना की घोषणा की गई थी।
  • इस लिंक्ड पेमेंट इंटरफेस के जुलाई 2022 तक चालू होने की उम्मीद है।

महत्व

दोनों देशों के बीच सीमा पार से भुगतान के लिए बुनियादी ढांचे के विकास के लिए यह लिंकेज एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर होगा। 

UPI (Unified Payments Interface)

यह एक मोबाइल आधारित फास्ट पेमेंट सिस्टम है, जो ग्राहकों को वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (VPA) का उपयोग करके चौबीसों घंटे भुगतान करने की सुविधा प्रदान करता है। VPA ग्राहक द्वारा बनाया जाता है। यह प्रणाली प्रेषक (remitter) द्वारा बैंक खाता विवरण साझा करने के जोखिम को समाप्त करती है। यह तंत्र व्यक्ति-से-व्यक्ति (P2P) के साथ-साथ व्यक्ति-से-व्यापारी (P2M) भुगतानों का समर्थन करता है और यूजर्स को धन भेजने या प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।

PayNow 

यह सिंगापुर की तेज भुगतान प्रणाली है, जो पीयर-टू-पीयर फंड ट्रांसफर सेवा को सक्षम करती है। यह सिंगापुर में भाग लेने वाले बैंकों और गैर-बैंक वित्तीय संस्थानों (NFIs) की मदद से खुदरा ग्राहकों के लिए उपलब्ध है। यह यूजर्स को उनके मोबाइल नंबर, सिंगापुर NRIC/FIN, या VPA का उपयोग करके धन भेजने या प्राप्त करने में सक्षम बनाती है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments