भारत 2020 में FDI का 5वां सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता बना : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने 2020 में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) में 64 बिलियन डालर प्राप्त किए। भारत दुनिया भर में FDI प्रवाह का पांचवां सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता बन गया है।

विश्व निवेश रिपोर्ट 2021

  • “World Investment Report 2021” व्यापार और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD) द्वारा जारी की गयी है।
  • इस रिपोर्ट के अनुसार, वैश्विक एफडीआई प्रवाह कोविड-19 महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुआ है।
  • 2020 में FDI प्रवाह, 2019 के 1.5 ट्रिलियन डॉलर से 35% घटकर 1 ट्रिलियन अमरीकी डालर हो गया है।
  • दुनिया भर में लॉकडाउन ने मौजूदा निवेश परियोजनाओं और बहुराष्ट्रीय उद्यमों की नई परियोजनाओं को शुरू करने की संभावनाओं को धीमा कर दिया है।

भारत पर अध्ययन

इस रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में FDI 27% बढ़कर 64 अरब डॉलर हो गया है। सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (ICT) उद्योग में अधिग्रहण से FDI में वृद्धि हुई है। महामारी ने वैश्विक स्तर पर डिजिटल बुनियादी ढांचे और सेवाओं की मांग भी बढ़ा दी है। इसने ICT उद्योग में ग्रीनफील्ड एफडीआई परियोजना के उच्च मूल्यों को जन्म दिया है। इस रिपोर्ट में प्रकाश डाला गया है कि COVID-19 भारत की दूसरी लहर ने देश की समग्र आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित किया है। FDI बहिर्वाह ( FDI outflows) के लिए भारत को दुनिया की शीर्ष 20 अर्थव्यवस्थाओं में 18वें स्थान पर रखा गया है। इस रिपोर्ट पर प्रकाश डाला गया है कि यूरोपीय संघ (EU) के साथ देश के मुक्त व्यापार समझौते (FTA) वार्ता को फिर से शुरू करने और अफ्रीका में इसके मजबूत निवेश के समर्थन से भारत से निवेश 2021 में स्थिर हो जाएगा।

 

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments