मध्य प्रदेश स्टार्टअप नीति (Madhya Pradesh Startup Policy) लांच की गई

मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप नीति को पीएम मोदी ने 14 मई, 2022 को इंदौर में आयोजित मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप कॉन्क्लेव के दौरान लॉन्च किया था।

मुख्य बिंदु 

पीएम द्वारा मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप पोर्टल भी लॉन्च किया गया था। यह पोर्टल राज्य के स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र को सुविधाजनक बनाने और बढ़ावा देने में मदद करेगा। इस लॉन्च के दौरान पीएम ने स्टार्ट-अप उद्यमियों से भी बातचीत की।

मध्य प्रदेश की स्टार्ट-अप नीति और कार्यान्वयन योजना – 2022 का उद्देश्य क्या है?

मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने और राज्य के नवोदित उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से इसे लॉन्च किया है। इस नीति को राज्य के युवाओं के उद्यमशीलता के विचारों को मजबूत करने और वास्तविकता में लाने के उद्देश्य से विकसित किया गया है। इस नई स्टार्ट-अप नीति के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए राज्य सरकार द्वारा राज्य भर में कई कार्यक्रमों की योजना बनाई गई है।

मध्य प्रदेश में कितने स्टार्टअप चल रहे हैं?

राज्य में 1,937 स्टार्ट-अप हैं जिन्हें सरकार ने मान्यता दी है और इनमें से 45% को महिलाएं चला रही हैं।

स्टार्ट-अप सेंटर क्या है?

नई स्टार्ट-अप नीति में, “MP Start-up Centre” का कॉन्सेप्ट पेश किया गया है। इस केंद्र में प्रत्येक स्टार्ट-अप के लिए एक समर्पित कार्यालय, एक संरक्षक के साथ-साथ विशेषज्ञ भी होंगे, जो राज्य के स्टार्ट-अप समुदाय को बढ़ने में मदद करेंगे।

मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप कॉन्क्लेव के प्रतिभागी कौन थे?

इस आयोजन में, सरकार के नीति निर्माताओं, सलाहकारों, उद्यमियों, नवप्रवर्तकों, निवेशकों, शिक्षाविदों और विभिन्न अन्य हितधारकों ने भाग लिया। इस कॉन्क्लेव में एक स्टार्ट-अप एक्सपो भी प्रदर्शित किया गया जिसमें नए नवाचारों और रुझानों को प्रदर्शित किया गया।

स्टार्ट-अप कॉन्क्लेव में कौन-कौन से कार्यक्रम आयोजित किए गए?

इस कॉन्क्लेव में स्पीड मेंटरिंग सेशन जैसे विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए, जहां स्टार्ट-अप्स ने विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों के नेताओं के साथ-साथ स्टार्ट-अप पर्यावरण के लोगों के साथ बातचीत की। 

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments