महाराष्ट्र ने 14 किलों के लिए विश्व धरोहर स्थल के टैग की मांग की

महाराष्ट्र सरकार ने विश्व धरोहर स्थल (World Heritage Site) का टैग पाने के लिए राज्य के 14 किलों के लिए एक अस्थायी सीरियल नामांकन तैयार किया है और इसे सबमिट किया है।

वे किले कौन से हैं?

महाराष्ट्र में शिवनेरी किला, रायगढ़ किला, तोरणा किला, राजगढ़ किला, लोहागढ़, मुल्हेर किला, अंकाई टंकई किला, साल्हेर किला, रंगना किला, कासा किला, सिंधुदुर्ग किला, अलीबाग किला, सुवर्णदुर्ग और खंडेरी किला सहित 14 स्थानों को सूचीबद्ध किया गया है। यह सभी स्थल ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं। वे या तो पेशवा शासन से संबंधित हैं या मराठों और मुगलों के बीच लड़ाई से सम्बंधित हैं। कुछ किलों ने मराठा सेनानियों के लिए नौसेना या सेना के ठिकानों के रूप में भी काम किया।

किलों को कैसे नामांकित किया गया?

यूनेस्को ने संस्कृति मंत्रालय के माध्यम से भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (Archaeology Survey of India) द्वारा अग्रेषित किलों की अस्थायी नामांकन सूची को स्वीकार कर लिया है। अब, राज्य सरकार को स्थलों के महत्व को सूचीबद्ध करते हुए यूनेस्को को एक विस्तृत अंतिम नामांकन सूची प्रस्तुत करनी है।

विश्व धरोहर स्थल क्या हैं?

विश्व धरोहर स्थल (World Heritage Site) एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन द्वारा दिए गए कानूनी संरक्षण के साथ क्षेत्र हैं। इन स्थानों को संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) द्वारा प्रशासित किया जाता है ।

इन साइटों को कैसे नामित किया जाता है?

ऐसे स्थलों को यूनेस्को द्वारा इसके सांस्कृतिक, ऐतिहासिक या वैज्ञानिक महत्व के लिए नामित किया गया है। विश्व धरोहर स्थल का टैग प्राप्त करने के लिए, साइटों के पास कुछ अद्वितीय विशेषता होनी चाहिए जिसे भौगोलिक और ऐतिहासिक रूप से पहचाना जा सके। जून 2020 तक, 167 देशों में 1,121 विश्व धरोहर स्थल मौजूद हैं। चीन और इटली ऐसे देश हैं जहां विरासत स्थलों की संख्या सबसे अधिक (55) है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments