‘मुजीब- द मेकिंग ऑफ ए नेशन’ फिल्म का ट्रेलर जारी किया गया

फीचर फिल्म, ‘मुजीब- द मेकिंग ऑफ ए नेशन’ भारत और बांग्लादेश के बीच संबंधों को चित्रित करती है। इस फिल्म का निर्देशन श्याम बेनेगल ने किया है।

मुख्य बिंदु 

इस फिल्म के ट्रेलर को केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर और बांग्लादेश के प्रसारण मंत्री डॉ. हसन महमूद ने कान्स फिल्म फेस्टिवल के तीसरे दिन लांच किया गया

यह फिल्म भारतीय राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम (National Film Development Corporation of India – NFDC) और बांग्लादेश के फिल्म विकास निगम (FDC) के बीच एक सह-निर्माण है। इस फिल्म के निर्माता सूचना प्रसारण मंत्रालय, बांग्लादेश और सूचना प्रसारण मंत्रालय, भारत हैं। इस फिल्म का कुल बजट 10 मिलियन डालर या 75 करोड़ रुपये से अधिक है। इस बजट को भारत और बांग्लादेश के बीच क्रमशः 40:60 के अनुपात में साझा किया गया है। यह फिल्म बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान को श्रद्धांजलि है। यह बांग्लादेश के गठन के 50 साल भी चिह्नित करेगा। COVID-19 महामारी के कारण फिल्म की रिलीज़ में देरी हुई है और इसके 2022 के अंत तक रिलीज़ होने की उम्मीद है।

शेख मुजीबुर रहमान कौन थे?

शेख मुजीबुर रहमान (Sheikh Mujibur Rahman) व्यापक रूप से बंगबंधु के रूप में जाने जाते थे। वह बांग्लादेश में एक राजनेता थे और उन्हें बांग्लादेश का राष्ट्रपिता माना जाता है। जब उन्हें बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के दौरान पश्चिमी पाकिस्तान में कैद किया गया था, तब उन्हें बांग्लादेश के अनंतिम सरकार के अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया था। बांग्लादेश मुक्ति संग्राम की समाप्ति के बाद, वह देश लौट आये और प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली।  इसके बाद उन्होंने देश के राष्ट्रपति के रूप में भी कार्य किया।

15 अगस्त 1975 को, मुजीब अपनी पत्नी, तीन बेटों और निजी कर्मचारियों के साथ, कनिष्ठ सैन्य अधिकारियों के एक समूह द्वारा मारे गए थे, जिन्होंने राष्ट्रपति निवास पर आक्रमण किया था। केवल उनकी बेटियां शेख रेहाना और शेख हसीना बच गईं क्योंकि वे उस समय पश्चिम जर्मनी का दौरा कर रहीं थीं। बाद में वर्ष 1996 में, शेख हसीना बांग्लादेश लौट आईं और प्रधानमंत्री बनीं। वे देश की वर्तमान प्रधानमंत्री भी हैं।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments