यूनाइटेड किंगडम के कैरियर स्ट्राइक ग्रुप ने भारतीय नौसेना के साथ समुद्री अभ्यास शुरू किया

22 जुलाई, 2021 को यूनाइटेड किंगडम का कैरियर स्ट्राइक समूह (CSG) एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ (HMS Queen Elizabeth) एयरक्राफ्ट कैरियर के नेतृत्व में भारतीय नौसेना (Indian Navy) के साथ तीन दिन की अवधि के लिए बंगाल की खाड़ी में समुद्री अभ्यास में शामिल हो गया है।

मुख्य बिंदु

  • पहली बार, यूनाइटेड किंगडम का कैरियर स्ट्राइक ग्रुप (CSG) 2021, जिसका नेतृत्व HMS क्वीन एलिजाबेथ कर रहा है, भारतीय नौसेना के साथ जटिल समुद्री इंटरेक्शन में शामिल हो रहा है।
  • दो दिवसीय द्विपक्षीय पैसेज अभ्यास (PASSEX) में, भारतीय नौसेना रॉयल नेवी के साथ समुद्र, वायु और उप-सतह समुद्री अभ्यास आयोजित करेगी।
  • यह समुद्री अभ्यास दोनों नौसेनाओं को अपने सहयोग और अंतरसंचालनीयता (interoperability) को बढ़ाने में मदद करेगा।
  • इस अभ्यास में दोनों देशों के संयुक्त बलों में 2 पनडुब्बी, 10 जहाज, लगभग 20 विमान और लगभग 4,000 कर्मी शामिल होंगे।
  • दोनों नौसेनाएं दो महासागरों में आपस में मिलकर काम करेंगी। 

कैरियर स्ट्राइक ग्रुप (सीएसजी) 

  • यह सीएसजी की पहली परिचालन तैनाती है।
  • 26,000 से अधिक समुद्री मील की यात्रा के दौरान यह 40 विभिन्न देशों के साथ अभ्यास करेगा।
  • एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ एयरक्राफ्ट कैरियर यूनाइटेड किंगडम द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा सतह पोत है। 
  • इस एयरक्राफ्ट कैरियर संयुक्त रूप से रॉयल नेवी, रॉयल एयर फ़ोर्स और यूएस मरीन कॉर्प्स द्वारा क्रू किया जा रहा है। यह F-35B लाइटनिंग मल्टी-रोल एयरक्राफ्ट से लैस है।

भारतीय नौसेना की भागीदारी

भारतीय नौसेना ने आईएनएस रणवीर, आईएनएस सतपुड़ा, आईएनएस कवरत्ती, आईएनएस ज्योति, आईएनएस कुलिश के साथ-साथ एक पनडुब्बी भी तैनात की है। PASSEX के लिए, भारत ने P8I विमान भी तैनात किया है जो लंबी दूरी के समुद्री टोही मिशन और पनडुब्बी रोधी युद्ध में भी सक्षम हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments