यूनिवर्सल टीकाकरण कार्यक्रम के लिए CoWIN का इस्तेमाल किया जाएगा

कोविड -19 टीकाकरण प्लेटफार्म Co-WIN को सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम (Universal Immunisation Program) के साथ-साथ रक्तदान के लिए तैयार किया जाएगा। यह घोषणा राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के प्रमुख डॉ. आर.एस. शर्मा ने की। इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल बाद में अंगदान के लिए किया जाएगा। भारत के अलावा, गुयाना ने अपने टीकाकरण कार्यक्रम के लिए इस मंच का उपयोग करने के लिए भारत के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए।

CoWIN

CoWIN का मतलब “Covid Vaccine Intelligence Network” है। यह भारत में COVID-19 टीकाकरण पंजीकरण के लिए एक वेब पोर्टल है। भारतीय केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय मंच का संचालन करता है। यह COVID-19 वैक्सीन के बुकिंग स्लॉट को प्रदर्शित करता है, जो आस-पास के क्षेत्रों में उपलब्ध हैं। वेबसाइट पर भी टीकाकरण स्लॉट बुक किया जा सकता है। यह लाभार्थियों को टीकाकरण प्रमाण पत्र भी प्रदान करता है। टीकाकरण प्रमाणपत्र COVID-19 महामारी के दौरान “वैक्सीन पासपोर्ट” के रूप में कार्य करता है। यह सर्टिफिकेट डिजिलॉकर में स्टोर किया जा सकता है। CoWIN को आरोग्य सेतु और UMANG एप्प के साथ भी एकीकृत किया गया है।

भारत में टीकाकरण अभियान

भारत ने 16 जनवरी, 2021 को भारत में फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए COVID-19 टीकाकरण शुरू किया था। 1 मार्च, 2021 को 60 वर्ष से अधिक आयु के निवासियों के लिए टीकाकरण कार्यक्रम शुरू किया गया था। 1 अप्रैल, 2021 से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी निवासियों के लिए वैक्सीन की पात्रता बढ़ा दी गई थी। 1 मई, 2021 से 18 वर्ष से अधिक आयु के निवासियों के लिए पात्रता को और बढ़ा दिया गया था। बच्चों के लिए कॉर्बेवैक्स वैक्सीन को मंजूरी दी गई थी और 12-14 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए टीकाकरण 16 मार्च, 2022 से शुरू हुआ था।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments