रक्षा उपकरणों के लिए जापान और वियतनाम ने सौदा पर हस्ताक्षर किये

जापान और वियतनाम ने हाल ही में एक नए समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जो वियतनाम को जापानी निर्मित रक्षा उपकरण और प्रौद्योगिकी के निर्यात को सक्षम बनाता है।

मुख्य बिंदु 

  • दोनों देशों ने चीन के बढ़ते सैन्य प्रभाव की पृष्ठभूमि में रक्षा सहयोग को बढ़ावा देने के लिए इस समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • यह सौदा देशों के बीच रक्षा साझेदारी को एक नए स्तर पर ले जाएगा।
  • दोनों देशों ने बहुराष्ट्रीय संयुक्त अभ्यासों के माध्यम से भी रक्षा संबंधों को गहरा करने की योजना बनाई है।
  • दक्षिण चीन सागर के विवादित जल क्षेत्र में चीन की बढ़ती मुखर कार्रवाइयों का मुकाबला करने के लिए, जापान और वियतनाम हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में नेविगेशन और ओवरफ्लाइट की स्वतंत्रता बनाए रखने और साइबर सुरक्षा सहित कई रक्षा क्षेत्रों में सहयोग के महत्व पर सहमत हुए हैं।
  • वियतनाम 11वां देश है जिसके साथ जापान ने रक्षा उपकरण और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण सौदे पर हस्ताक्षर किए हैं।

चीन-वियतनाम विवाद

दक्षिण चीन सागर में स्प्रैटली (Spratly) और पैरासेल (Paracel) द्वीप समूहों को लेकर वियतनाम का चीन के साथ क्षेत्रीय विवाद चल रहा है।

चीन-जापान विवाद

जापान और चीन के बीच भी क्षेत्रीय विवाद चल रहा है। जापान नियमित रूप से सेनकाकू द्वीप के पास पूर्वी चीन सागर में चीनी तटरक्षक की मौजूदगी का विरोध करता है, जिसे जापान द्वारा नियंत्रित किया जाता है और इस पर चीन द्वारा डियाओयू द्वीप के रूप में भी दावा किया जाता है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments