राष्ट्रीय बाल पुरस्कार समारोह में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया, जानिए क्या होती है ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी?

हाल ही में, प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार (PMRBP) 2021 और 2022 के 61 विजेताओं को डिजिटल प्रमाणपत्र मिले हैं, जिसमे ब्लॉकचेन-संचालित तकनीक का उपयोग किया गया है।

मुख्य बिंदु

  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर (IIT कानपुर) द्वारा “नेशनल ब्लॉकचेन प्रोजेक्ट” के तहत यह ब्लॉकचेन-संचालित तकनीक विकसित की गई है।
  • इस अवसर पर, IIT कानपुर के निदेशक अभय करंदीकर ने कहा कि, इस तकनीक का उपयोग भविष्य में सभी प्रमाण पत्र और डिग्री प्रदान करने के लिए भी किया जा सकता है।

डिजिटल प्रमाणपत्र

ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करके प्रदान किए गए डिजिटल प्रमाणपत्र प्राप्तकर्ताओं के मोबाइल उपकरणों पर स्थापित डिजिटल वॉलेट में store किए जाएंगे। यह प्रमाणपत्र जाली नहीं हो सकते हैं और दुनिया भर में सत्यापन योग्य हैं।

पृष्ठभूमि

28 दिसंबर, 2021 को पीएम मोदी ने एक दीक्षांत समारोह के दौरान IIT कानपुर में ब्लॉकचेन-आधारित डिजिटल डिग्री का शुभारंभ किया था।

इस तकनीक को कौन लागू कर रहा है?

डिजिटल तकनीक को CRUBN द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। CRUBN एक फर्म है जो ब्लॉकचेन समाधान प्रदान करती है। इसकी स्थापना 4 IITians ने की थी,

  1. नीलेश वसीता, IIT कानपुर
  2. रास द्विवेदी, IIT कानपुर
  3. तन्मय यादव, IIT कानपुर
  4. मुकुल वर्मा, IIT बॉम्बे

इस टेक्नोलॉजी को पद्म श्री प्रो. मनिंद्र अग्रवाल और प्रो. संदीप के शुक्ला, जो राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय के तहत राष्ट्रीय ब्लॉकचेन परियोजना के संयुक्त समन्वयक हैं, की देखरेख में विकसित किया गया था।

राष्ट्रीय ब्लॉकचेन परियोजना (National Blockchain Project)

राष्ट्रीय ब्लॉकचेन परियोजना को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय (National Security Council Secretariat) द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है ताकि ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का उपयोग करके ई-गवर्नेंस समाधान विकसित किया जा सके। इस परियोजना में ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी के उपयोग पर निर्णय लेने के लिए तीन महीने का व्यवहार्यता अध्ययन शामिल है और इसके अनुसंधान और सत्यापन के साथ-साथ ऊष्मायन योजना (incubation plan) की रूपरेखा तैयार की गई है। पहले चरण के तहत, ब्लॉकचेन की उपयोगिता को प्रदर्शित करने के लिए दो ई-गवर्नेंस अनुप्रयोगों की पहचान की गई थी।

राष्ट्रीय ब्लॉकचेन रणनीति (National Blockchain Strategy)

यह दिसंबर 2021 में इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय द्वारा प्रस्तावित की गई थी। इसने बहु-संस्थागत दृष्टिकोण अपनाया है। इस रणनीति में ब्लॉकचेन को सेवा के रूप में पेश करने के लिए राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (National Informatics Centre – NIC), Centre for Development of Advanced Computing (C – DAC) और National Informatics Centre services Inc (NICSI) शामिल हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments