राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद (National Startup Advisory Council) की पहली बैठक आयोजित की गई

वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने हाल ही में राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद (National Startup Advisory Council) की पहली बैठक की अध्यक्षता की।

राष्ट्रीय स्टार्टअप सलाहकार परिषद (National Startup Advisory Council)

  • इस परिषद् का गठन उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग द्वारा किया गया था।
  • इस परिषद का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार को देश में नवाचार और स्टार्टअप को मजबूत करने के लिए मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र के निर्माण के लिए आवश्यक उपायों पर सलाह देना है।यह देश में सतत आर्थिक विकास को गति प्रदान करेगी और बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा करने में मदद करेगी।
  • इस परिषद का गठन पदेन और गैर-आधिकारिक दोनों सदस्यों के साथ किया जाता है।ये सदस्य भारत सरकार द्वारा नामित किए जाते हैं। इनमें केंद्रीय मंत्रालयों के सदस्य और सफल स्टार्टअप्स के संस्थापक भी शामिल हैं।

भारत में स्टार्टअप्स

  • भारत में अब 38,756 आधिकारिक रूप से मान्यता प्राप्त स्टार्टअप हैं। इसमें से 27 यूनिकॉर्न हैं। यूनिकॉर्न वह स्टार्टअप्स हैं जिनका बाज़ार मूल्यांकन कम से कम 1 बिलियन डालर है।
  • भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा टेक स्टार्टअप हब है।
  • भारत सरकार ने देश में स्टार्टअप्स की वृद्धि के लिए एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए 2016 में स्टार्टअप इंडिया की शुरुआत की थी।

स्टार्टअप इंडिया (Startup India)

  • यह मुख्य रूप से सरलीकरण और हैंडहोल्डिंग, उद्योग-अकादमिया साझेदारी, वित्तपोषण सहायता और प्रोत्साहन पर लक्षित है।
  • भारत प्रारम्भ (स्टार्टअप इंडिया इंटरनेशनल समिट) का आयोजन करता है।यह उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग द्वारा आयोजित किया जाता है।

भारत में स्टार्टअप की परिभाषा

भारत सरकार स्टार्टअप को एक ऐसी संस्था के रूप में परिभाषित करती है जिसका मुख्यालय भारत में है, जिसकी वार्षिक आय 100 करोड़ रुपये से कम है और यह दस साल से भी कम समय में खुली है।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments