रूस ने जानवरों के लिए COVID-19 टीके का उत्पादन किया

रूस ने हाल ही में जानवरों के लिए COVID-19 टीकों के पहले बैच का उत्पादन किया। इस वैक्सीन का नाम कार्निवैक-कोव (Carnivac-Cov) है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाल ही में मनुष्यों और वायरस के बीच वायरस के संचरण की संभावना की पुष्टि की है।

मुख्य बिंदु

2020 में, डेनमार्क में 17 मिलियन से अधिक मिंक को मार दिया गया था, दरअसल इस बात की पुष्टि की गयी थी कि वायरस मनुष्यों से मिंक तक चला गया है। डेनमार्क में, यह वायरस मनुष्यों से मिंक में स्थानांतरित हो गया था।

कार्निवैक-कोव (Carnivac-Cov)

  • यह रूस में पशु चिकित्सा और फाइटोसैनिटरी निगरानी के लिए एक संघीय सेवा रोसेलखोज़नाज़ोर (Rosselkhoznadzor) द्वारा निर्मित किया गया है।
  • रूसी वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि इस वैक्सीन के उपयोग से वायरस के उत्परिवर्तन (mutation) को रोकने में मदद मिलेगी।
  • वैक्सीन परीक्षणों के परिणामों में इसका अच्छा प्रतिरक्षात्मक प्रभाव है।

COVID-19 पशु टीके पर प्रतिक्रिया

रूस के अनुसार लेबनान, कजाकिस्तान, पोलैंड, ग्रीस, जर्मनी, ऑस्ट्रिया, ईरान, अर्जेंटीना, दक्षिण कोरिया जैसे देशों ने वैक्सीन खरीदने में रुचि व्यक्त की है।

COVID-19 का प्रसार

कोविड​​-19 मुख्य रूप से मानव-से-मानव संचरण के माध्यम से फैलता है। हालांकि, मानव से पशु के साक्ष्य भी हैं। यह इसलिए संभव है क्योंकि यह एक जूनोटिक वायरस है।

पशुजन्य रोग (Zoonosis)

  • यह वायरस, बैक्टीरिया जैसे रोगजनकों के कारण होने वाला संक्रमण है।ज़ूनोटिक संक्रमण मुख्य रूप से वे संक्रमण हैं जो जानवरों से मनुष्यों में फैलते हैं।
  • COVID-19 के अलावा, अन्य जूनोटिक रोग इबोला वायरस रोग और साल्मोनेलोसिस हैं।पहले HIV एक जूनोटिक बीमारी थी। हालांकि, यह अब एक मानव केवल बीमारी में बदल गयी है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments