रूस ने पनडुब्बी से हाइपरसोनिक मिसाइल का परीक्षण किया

रूस ने 4 अक्टूबर, 2021 को पहली बार परमाणु पनडुब्बी से हाइपरसोनिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया है।

मुख्य बिंदु 

  • जिरकोन (Zircon) मिसाइल नाम की इस मिसाइल को सेवेरोडविंस्क पनडुब्बी से लॉन्च किया गया था। जिरकोन ने बैरेंट्स सागर में एक निर्धारित लक्ष्य को नष्ट किया।
  • यह किसी पनडुब्बी से जिरकोन का पहला लांच था।
  • अतीत में नौसेना के युद्धपोत से मिसाइल का बार-बार परीक्षण किया जा चुका है।
  • 2022 में इस मिसाइल को रूसी नौसेना में शामिल किया जाएगा।

मिसाइल का महत्व

जिरकोन मिसाइल को रूसी क्रूजर, फ्रिगेट और पनडुब्बियों को मज़बूत बनाने के लिए विकसित किया गया है। यह रूस में विकसित की जा रही कई हाइपरसोनिक मिसाइलों में से एक है।

जिरकोन मिसाइल (Zircon Missile)

3M22 Zircon या 3M22 Tsirkon मिसाइल एक स्क्रैमजेट पावर्ड, एंटी-शिप हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल है। फिलहाल रूस इस मिसाइल का परीक्षण कर रहा है। 2012-2013 में एक Tu-22M3 बॉम्बर से Zircon मिसाइलों के प्रोटोटाइप का परीक्षण किया गया था। अप्रैल 2017 तक, Zircon एक परीक्षण के दौरान 8 मैक की गति तक पहुँच गयी थी। 3 जून 2017 को जिरकोन का फिर से परीक्षण किया गया।

जिरकोन मिसाइल ध्वनि की गति से 9 गुना तेज उड़ान भरने की क्षमता रखती है। इसकी मारक क्षमता 1000 किलोमीटर है  सॉलिड-फ्यूल इंजन के साथ बूस्टर स्टेज इसे सुपरसोनिक गति तक बढ़ा देता है। इस चरण के बाद, तरल-ईंधन से युक्त एक स्क्रैमजेट मोटर इसे हाइपरसोनिक गति तक बढ़ा देता है। यह मैक 8 – मैक 9 तक की गति से यात्रा कर सकता है।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments