रेमेडेसिविर (Remdesivir) उत्पादन के लिए 25 नए विनिर्माण स्थल स्वीकृत किये गये: सरकार

हाल ही में रसायन और उर्वरक मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा है कि इस महीने की 12 तारीख से रेमेडिसवियर के उत्पादन के लिए 25 नए विनिर्माण स्थलों को मंजूरी दी गई है।  मंडाविया ने कहा है कि उत्पादन क्षमता अब प्रति माह 40 लाख शीशियों से बढ़कर लगभग 90 लाख शीशियां प्रति माह हो गई है। उन्होंने कहा, बहुत जल्द, प्रति दिन तीन लाख शीशियों का उत्पादन किया जाएगा।

रेमेडेसिविर क्या है?

रेमेडेसिविर (Remdesivir) एक इंजेक्टीबल एंटी-वायरस है। यह वायरस की प्रतिकृति को रोकने के लिए एक इंजेक्शन है। रेमेडेसिविर को 2014 में बनाया गया था। इसे इबोला के इलाज के लिए बड़े पैमाने पर बनाया गया था। बाद में इसका उपयोग SARS और MERS के इलाज के लिए किया गया था। हाल ही में, COVID-19 संकट के बाद, इसे COVID-19 उपचार के लिए फिर से तैयार किया गया है।

हाल ही में केंद्र सरकार ने रेमेडेसीविर पर आयात शुल्क माफ कर दिया है। सरकार के इस कदम से कोविड-19 रोगियों को सस्ती चिकित्सा सुविधा प्रदान प्राप्त हो सकेगी। भारत सरकार के इस कदम से रेमेडेसीविर दवा आपूर्ति बढ़ेगी और लागत में कमी आएगी।

रेमेडेसिविर को उन रोगियों के लिए जांच चिकित्सा के रूप में अनुमोदित किया गया है जो ऑक्सीजन पर हैं जिनमें मध्यम और गंभीर लक्षण हैं। रेमेडेसीविर का उपयोग उन मामलों में किया जाना चाहिए जहां ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments