रेलवे ने एक साल में सबसे अधिक विद्युतीकरण का आंकड़ा दर्ज किया

भारतीय रेलवे ने 2020-21 के दौरान एक ही वर्ष में 6000 किलोमीटर से अधिक के मार्ग को कवर करने वाले सेक्शन का विद्युतीकरण किया है, यह एक वर्ष में किये गये विद्युतीकरण का उच्चतम आंकड़ा है। COVID-19 महामारी के बावजूद, यह 2018-19 में हासिल किए गए पांच हजार से अधिक रूट किलोमीटर के पिछले उच्चतम स्तर को पार कर गया है। भारतीय रेलवे ने आयातित पेट्रोलियम आधारित ऊर्जा पर देश की निर्भरता को कम करने के लिए हाल के वर्षों में विद्युतीकरण पर बहुत जोर दिया है।

मुख्य बिंदु

2007-14 की तुलना में पिछले सात वर्षों में पांच गुना से अधिक विद्युतीकरण प्राप्त किया गया था। इसने 2020-21 के दौरान रिकॉर्ड 56 ट्रैक्शन सब-स्टेशन भी बनाए हैं। पिछले कुछ वर्षों में भारतीय रेलवे द्वारा विद्युतिकृत किये गये कुछ प्रमुख सेक्शन में दिल्ली-दरभंगा-जयनगर, चेन्नई-त्रिची, मुंबई-हावड़ा शामिल हैं।

रेल मंत्रालय ने कहा है कि रेलवे ने दिसंबर 2023 तक अपनी पटरियों को पूरी तरह से विद्युतीकृत करने की योजना बनाई है। कुल रेल विद्युतीकरण 2030 तक “शुद्ध शून्य” उत्सर्जन के लक्ष्य को पूरा करेगा, जो अक्षय ऊर्जा स्रोतों से अपने पूरे बिजली के भार को आकर्षित करेगा।

भारतीय रेलवे

भारतीय रेलवे विश्व के सबसे उत्कृष्ट रेलवे नेटवर्क में से एक है, भारतीय रेलवे का 1,51,000 किलोमीटर ट्रैक, 7000 स्टेशन, 13 लाख कर्मचारी तथा 160 वर्षों का इतिहास है। भारत में रेलवे की शुरुआत 16 अप्रैल, 1853 को बोरी बंदर और थाने के बीच हुई थी। तत्पश्चात भारतीय रेलवे का काफी विस्तार हुआ, देश के आर्थिक विकास में भारतीय रेलवे की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments