विश्व भारती विश्वविद्यालय का शताब्दी समारोह मनाया गया

24 दिसम्बर को विश्व भारती विश्वविद्यालय का शताब्दी समारोह मनाया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह को संबोधित किया। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री विश्वभारती विश्वविद्यालय के कुलपति हैं। इस मौके पर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर का दृष्टिकोण आत्मानिभर भारत का सार है।

पीएम मोदी ने आगे  कहा किविश्व भारती ने हमें दिखाया, प्रकृति के साथ कैसे रहना और सीखना है। उन्होंने कहा कि भारत एकमात्र प्रमुख देश है जो पेरिस समझौते के तहत निर्धारित पर्यावरण लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सही दिशा में आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के माध्यम से भारत पर्यावरण संरक्षण में भी विश्व में अग्रणी है।

मुख्य बिंदु

विश्व भारती विश्वविद्यालय देश का सार्वजनिक केंद्रीय विश्वविद्यालय है और इसे सबसे पुराना केंद्रीय विश्वविद्यालय माना जाता है।

इसकी स्थापना रवींद्रनाथ टैगोर ने वर्ष 1921 में की थी। 1951 में एक अधिनियम के द्वारा इसे केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाया गया था। यह पश्चिम बंगाल के शांतिनिकेतन में स्थित है, और इसे राष्ट्रीय महत्व के संस्थान (INI) का दर्जा प्राप्त है। विश्व भारती विश्वविद्यालय को NIRF 2020 रैंकिंग की समग्र श्रेणी में 69वां स्थान प्राप्त हुआ था है।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) का शताब्दी समारोह

22 दिसंबर को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह को संबोधित किया था। पीएम मोदी ने इस आयोजन के दौरान एक डाक टिकट भी जारी किया। यह विश्वविद्यालय वर्ष 1875 में मुहम्मडन एंग्लो-ओरिएंटल कॉलेज के रूप में स्थापित किया गया था बाद में यह वर्ष 1920 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के रूप में अस्तित्व में आया। NIRF 2020 में इस विश्वविद्यालय की समग्र रैंकिंग 31 है।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments