वैश्विक राहत सामग्री की तुरंत क्लीयरेंस के लिए अंतर-मंत्रालयी समूह स्थापित किया गया

भारत सरकार ने विदेशों से राहत सामग्री की तत्काल निकासी के लिए प्रक्रियाओं की स्थापना के लिए एक उच्च स्तरीय अंतर-मंत्रालयी समूह का गठन किया है।

समूह के बारे में

चूंकि भारत में COVID-19 मामलों की संख्या काफी हद तक बढ़ने लगी है, कई देश जैसे यूके, अमेरिका, फ्रांस जर्मनी, आयरलैंड, कुवैत वेंटिलेटर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, श्वसन सामग्री जैसे आवश्यक सामान भेज रहे हैं। उच्च स्तरीय अंतर-मंत्रालयी समूह यह सुनिश्चित करेगा कि इन सामग्रियों को देश के विभिन्न हिस्सों में स्थित प्राप्तकर्ता संस्थानों को तुरंत भेजा जाये।

विदेशों से प्राप्त राहत सामग्री

  • ब्रिटेन ने घोषणा की कि वह 495 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर, 20 मैनुअल वेंटिलेटर और 120 गैर-इनवेसिव वेंटिलेटर भेजेगा।
  • फ्रांस से राहत सामग्री दो चरणों में आ रही है।पहले चरण में, फ्रांस ऑक्सीजन पैदा करने वाले प्लांट भेज रहा है जो जल्दी से स्थापित किए जा सकते हैं। दूसरे चरण में, फ्रांस पांच ऑक्सीजन कंटेनर भेजेगा।
  • आयरलैंड 700 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर भेजेगा।
  • जर्मनी मोबाइल ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र, 120 वेंटिलेटर और 80 मिलियन KN95 मास्क भेजेगा। इसके अलावा, जर्मनी COVID-19 के परीक्षण और RNA अनुक्रमण पर एक वेबिनार आयोजित करने की योजना बना रहा है।
  • ऑस्ट्रेलिया 500 वेंटिलेटर, 20,000 फेस शील्ड, 1,00,000 गॉगल्स, 5,00,000 पी2 और N95 मास्क, एक मिलियन सर्जिकल मास्क भेजेगा।

अमेरिका से मदद

  • अमेरिका एस्ट्राज़ेनेका के COVISHILED वैक्सीन का उत्पादन करने के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया को टीके के लिए कच्चा माल भेजेगा।
  • USAID भारत में ऑक्सीजन परिवहन में मदद करेगा।
  • देश में वैक्सीन की तत्परता का समर्थन करने के लिए रोग नियंत्रण केंद्र द्वारा अतिरिक्त तकनीकी सहायता प्रदान की जाएगी।
  • अमेरिकी सरकार ने रेमेडिसिविर के वाणिज्यिक आपूर्तिकर्ताओं की पहचान की है।
  • इसके अलावा, पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट और रैपिड डायग्नोस्टिक टेस्टिंग सप्लाई को तुरंत भारत भेजा जायेगा।

 

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments