व्यापार और निवेश पर प्रथम भारत-यूरोपीय संघ उच्च स्तरीय वार्ता का आयोजन किया गया

भारत और यूरोपीय संघ के बीच व्यापार और निवेश पर पहली उच्च-स्तरीय वार्ता 5 फरवरी, 2021 को आयोजित की गई। इस बैठक की अध्यक्षता यूरोपीय संघ के कार्यकारी उपाध्यक्ष और व्यापार आयुक्त वाल्दिस डोंब्रोव्स्कीस और वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल द्वारा की गई।

मुख्य बिंदु

भारत-यूरोपीय संघ की पहली उच्च-स्तरीय वार्ता 15वें भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं के शिखर सम्मेलन का परिणाम था, जो जुलाई 2020 में आयोजित किया गया था। द्विपक्षीय व्यापार और निवेश संबंधों की दिशा में मंत्रिस्तरीय-स्तरीय मार्गदर्शन के उद्देश्य से इस संवाद की स्थापना की गयी थी।

इस बैठक के दौरान, मंत्रियों ने COVID-19 के बाद एकजुटता और वैश्विक सहयोग के महत्व को पर बल दिया। दोनों पक्षों ने नियमित रूप से बैठकों की एक श्रृंखला के माध्यम से द्विपक्षीय व्यापार और निवेश संबंधों को मजबूत करने पर सहमति व्यक्त की। इस दौरान मंत्रियों ने द्विपक्षीय व्यापार और निवेश सहयोग मुद्दों जैसे भारत-यूरोपीय संघ बहुपक्षीय वार्ता की मेजबानी पर आम सहमति तक पहुंचने के उद्देश्य से अगले 3 महीनों के भीतर बैठक आयोजित करने के लिए सहमति व्यक्त की है। यह बैठक भारत-यूरोपीय संघ की आर्थिक और वाणिज्यिक साझेदारी के प्रति प्रतिबद्धता के साथ संपन्न हुई।

15वां भारत-यूरोपीय संघ नेताओं का शिखर सम्मेलन (15th India-EU Leader’s Summit)

इस शिखर सम्मेलन का आयोजन जुलाई 2020 में किया गया था। इस शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने भारत का प्रतिनिधित्व किया था, जबकि यूरोपीय परिषद् के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल के साथ यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयन ने दूसरे पक्ष का प्रतिनिधित्व किया था। इस सम्मेलन के दौरान  “EU-India Strategic Partnership: A Roadmap to 2025” को अपनाया गया था।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments