शांतिर ओग्रोशेना, 2021 (Shantir Ogroshena) युद्ध अभ्यास का समापन हुआ

12 अप्रैल, 2021 को बांग्लादेश में बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास “शांतिर ओग्रोशेना, 2021” का समापन हुआ। इससे पहले 4 अप्रैल, 2021 को “शांतिर ओग्रोशेना, 2021” शुरू हुआ था। बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान के जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में यह अभ्यास आयोजित किया गया।

शांतिर ओग्रोशेना (Shantir Ogroshena)

  • यह अभ्यास 4 अप्रैल, 2021 और 12 अप्रैल, 2021 के बीच आयोजित किया गया।
  • इस अभ्यास में भारतीय सेना के 30 कर्मियों ने भाग लिया।
  • इस अभ्यास में अन्य प्रतिभागी श्रीलंकाई सेना, रॉयल भूटान आर्मी, बांग्लादेश आर्मी थी।
  • साथ ही यूके, यूएसए, तुर्की, कुवैत, सिंगापुर और सऊदी अरब के सैन्य पर्यवेक्षक  ने भी इस अभ्यास में भाग लिया।
  • इस अभ्यास का मुख्य उद्देश्य पड़ोस के बीच इंटरओपेराबिलिटी को बढ़ाना है। इससे शांति बनाए रखने में मदद मिलेगी।

शेख मुजीबुर रहमान (Sheikh Mujibur Rahman)

  • शेख मुजीबुर रहमान बांग्लादेशी राजनीतिज्ञ थे।वह बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति थे। उन्हें लोकप्रिय रूप से “बंगबंधु” कहा जाता है।
  • वह 1949 में स्थापित अवामी लीग राजनीतिक पार्टी में एक प्रमुख नेता थे। बाद में वह पार्टी के नेता बन गए।1971 में बांग्लादेश मुक्ति युद्ध में पार्टी ने एक प्रमुख भूमिका निभाई।
  • उनकी बेटी शेख हसीना बांग्लादेश की वर्तमान प्रधानमंत्री हैं।
  • 1975 में, रहमान और उनके परिवार के अधिकांश सदस्य युवा बांग्लादेश सेना के एक समूह द्वारा मारे गए थे।
  • 17 मार्च, 2020 को बांग्लादेश सरकार नेबंगबंधु की 100वीं जयंती मनाई।
  • भारत सरकार ने बंगबंधु को वर्ष 2020 के लिए गांधी शांति पुरस्कार से सम्मानित किया।

भारत और बांग्लादेश के बीच अन्य सैन्य अभ्यास

  • सम्प्रीती भारत और बांग्लादेश के बीच आयोजित एक संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास है।
  • भारत और बांग्लादेश की नौसेनाएं प्रतिवर्ष CORPAT अभ्यास में भाग लेती हैं।
  • अक्टूबर 2020 में, देशों ने बोंगसागर (BONGOSAGAR) नौसेना अभ्यास किया।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments