संयुक्त राष्ट्र ने अफगान खाद्य संकट की चेतावनी दी

विश्व खाद्य कार्यक्रम (World Food Programme – WFP) ने चेतावनी दी है कि अगर तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो बच्चों सहित लाखों अफगान भूख से मर सकते हैं।

मुख्य बिंदु 

  • WFP मानवीय सहायता प्रदान करने के लिए बिना किसी देरी के फ्रीज़ किये गये धन को जारी करने का आह्वान कर रहा है।
  • लगभग 22.8 मिलियन लोग, जो अफगानिस्तान की पूरी आबादी का आधा हिस्सा हैं, एक गंभीर खाद्य संकट का सामना कर रहे हैं।
  • WFP के अनुसार, भोजन की मांग को पूरा करने के लिए, सर्दियों के करीब 220 मिलियन अमेरिकी डॉलर की आवश्यकता होगी।

विश्व खाद्य कार्यक्रम (World Food Programme – WFP)

WFP संयुक्त राष्ट्र की खाद्य-सहायता विंग है। यह दुनिया का सबसे बड़ा मानवीय संगठन है, जो भूख और खाद्य सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करता है। यह संगठन स्कूली भोजन का सबसे बड़ा प्रदाता भी है। इसकी स्थापना 1961 में हुई थी और इसका मुख्यालय रोम में है। इसने 80 देशों में कार्यालय भी स्थापित किए हैं। 2019 तक, WFP ने 88 देशों में 97 मिलियन लोगों की सेवा की। यह संयुक्त राष्ट्र विकास समूह का एक कार्यकारी सदस्य है, जो संयुक्त राष्ट्र की संस्थाओं का एक संघ है जो 17 सतत विकास लक्ष्यों (SDG) को पूरा करने के उद्देश्य से काम कर रहा है। इसकी प्राथमिक प्राथमिकता 2030 तक “शून्य भूख” के लिए SDG 2 हासिल करना है।

WFP के कार्य

आपातकालीन खाद्य राहत के अलावा, WFP तकनीकी सहायता और विकास सहायता प्रदान करता है, जैसे:

  1. आपातकालीन तैयारी और प्रतिक्रिया के लिए क्षमता निर्माण
  2. आपूर्ति श्रृंखला और लॉजिस्टिक्स का प्रबंधन
  3. सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रमों को बढ़ावा देना
  4. जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लचीलेपन को मजबूत करना

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments