संयुक्त राष्ट्र ने अफगानिस्तान के लिए सबसे बड़ी देश विशिष्ट अपील शुरू की

संयुक्त राष्ट्र ने हाल ही में अफगानिस्तान के लिए सबसे बड़ी देश विशिष्ट अपील (country specific appeal) शुरू की है। अफगानिस्तान में बैंकिंग प्रणाली को पुनर्जीवित करने के लिए पाकिस्तान द्वारा अंतर्राष्ट्रीय संगठन काम आवहन करने के बाद यह अपील शुरू की गई थी।

मुख्य बिंदु

यह 5 बिलियन डालर की अपील है। यानी संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों के मुताबिक अफगानिस्तान को बचाने के लिए 5 अरब डॉलर की जरूरत है। संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों ने अफगानिस्तान में ढह रही सेवाओं को बचाने की अपील की है।

अफगानिस्तान दुनिया में सबसे खराब मानवीय संकट का सामना कर रहा है। आधे अफगान भूखमरी का सामना कर रहे हैं। देश में 9 मिलियन से अधिक लोग बेघर हैं। लगभग 22 मिलियन लोगों को सहायता की आवश्यकता है। 5.7 मिलियन अफगानों को सीमाओं से परे मदद की जरूरत है।

महत्व

देश में बैंकिंग प्रणाली की अनुपस्थिति सुरक्षा चिंताओं को जन्म देगी। साथ ही अफगानिस्तान में मानवीय एजेंसियां ​​तभी काम कर सकती हैं, जब देश में नकदी हो।

अफगानिस्तान में वर्तमान स्थिति

अफगानिस्तान में स्थिति बदल रही है। यह खतरनाक है। अगस्त 2021 में अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद लोगों की मदद करने की क्षमता बेहद सीमित हो गई है। 90% स्वास्थ्य क्लीनिक बंद हो जायेंगे। यह COVID-19 प्रतिक्रियाओं के लिए खतरा है। इससे देश में बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ेगा।

भूख संकट

अमेरिका के अफगानिस्तान छोड़ने के बाद, तालिबान, जिसे अफगानिस्तान का इस्लामिक अमीरात भी कहा जाता है, ने नियंत्रण कर लिया। इसके बाद अंतरराष्ट्रीय दानदाताओं ने देश को अपनी मानवीय सहायता बंद कर दी। इससे देश में सूखे और भूख का संकट पैदा हो गया। साथ ही देश नकदी की कमी से जूझ रहा है। अफगानिस्तान अपने स्वास्थ्य कर्मियों, सरकारी कर्मचारियों, शिक्षकों आदि को भुगतान करने के लिए विदेशी धन पर निर्भर है। पिछली अफगान सरकार अपने 75% सार्वजनिक खर्च के लिए विदेशी धन पर निर्भर थी।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments