सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतों में 50% की कमी करेगी सरकार

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के अनुसार, केंद्र सरकार ने वर्ष 2024 तक सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतों को 50% तक कम करने का लक्ष्य रखा है।

सड़क दुर्घटनाओं को रोकने में कॉर्पोरेट्स की भूमिका

  • फिक्की द्वारा आयोजित ‘Role of Corporates in Arresting Road Fatalities’ पर वर्चुअल सत्र को संबोधित करते हुए इस लक्ष्य पर प्रकाश डाला गया।
  • नितिन गडकरी ने प्रत्येक राज्य, जिले और शहर में ‘ब्लैक स्पॉट’ की पहचान की आवश्यकता पर जोर दिया।
  • उन्होंने यह भी कहा, विश्व बैंक और एडीबी ने पहले ही एक योजना को मंजूरी दे दी है जिसके तहत सरकार राज्यों, NHAI और अन्य हितधारकों के लिए दुर्घटनाओं की चपेट में आने वाले ब्लैक स्पॉट को हटाने के लिए 14,000 करोड़ रुपये आवंटित कर रही है।

मौतों को कम करने के लिए 4-E फॉर्मूला

सड़क और परिवहन मंत्रालय सड़क सुरक्षा के चार ‘E’ के पुनर्गठन और सुदृढ़ीकरण द्वारा सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतों को कम करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। 4E में शामिल हैं- Engineering (सड़क और ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग), Economy, Enforcement और Education।

भारत में सड़क दुर्घटनाएं

भारत में सड़क दुर्घटनाएं मौतों, चोटों और संपत्ति के नुकसान का एक प्रमुख कारण हैं। विश्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार, हालांकि भारत में विश्व के वाहनों का 1% हिस्सा है, लेकिन यह सड़क दुर्घटनाओं में वैश्विक मौतों का 11% हिस्सा है। यह दुनिया भर में सबसे ऊंचा है। लगभग 4.5 लाख सड़क दुर्घटनाएं होती हैं, जिसमें भारत में प्रतिवर्ष 1.5 लाख लोग मारे जाते हैं। यहां हर घंटे 53 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं और हर 4 मिनट में 1 व्यक्ति की मौत होती है। इस रिपोर्ट के अनुसार, सड़क दुर्घटनाओं में 5.96 लाख करोड़ रुपये या सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 3.14 प्रतिशत खर्च होता है।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments