सहकार प्रज्ञा पहल क्या है?

24 नवंबर, 2020 को केद्रीय कृषि मंत्रालय ने ‘सहकार प्रज्ञा’ पहल लांच की। इस पहल के तहत, ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक सहकारी समितियों में किसानों को राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी) द्वारा प्रशिक्षित किया जाएगा। सहकार प्रज्ञा पहल को पूरे भारत में 18 क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्रों के विस्तृत नेटवर्क द्वारा कार्यान्वित किया जाएगा। ये क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र हरियाणा स्थित लक्ष्मणराव इनामदार नेशनल एकेडमी फॉर कोऑपरेटिव रिसर्च एंड डेवलपमेंट (LINAC) द्वारा चलाए जा रहे हैं जो NCDC के तहत काम करता है।

मुख्य बिंदु

इस पहल के तहत, 45 प्रशिक्षण मॉड्यूल तैयार किए गए हैं। ये प्रशिक्षण मॉड्यूल ज्ञान, कौशल और संगठनात्मक क्षमताओं को स्थानांतरित करने में मदद करेंगे। इसके अलावा, LINAC ने इस पहल के तहत, एक वर्ष में लगभग 5,000 किसानों को सहकारी समितियों में प्रशिक्षित करने की योजना बनाई है।

भारत में सहकारी समितियाँ

वर्तमान में भारत में 8.50 लाख से अधिक सहकारी समितियों का नेटवर्क है। इन सहकारी समितियों में लगभग 290 मिलियन सदस्य शामिल हैं। 94% किसान भारत में कम से कम एक सहकारी समिति के सदस्य हैं। यह कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में जोखिम को कम करने के लिए किसानों को ताकत देती हैं।

राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (NCDC)

यह एक वैधानिक निगम है जिसे भारतीय संसद के एक अधिनियम द्वारा स्थापित किया गया है। एनसीडीसी की स्थापना 13 मार्च, 1963 को हुई थी। एनसीडीसी कृषि उत्पादों के उत्पादन और विपणन, भंडारण, निर्यात और आयात के लिए कार्यक्रमों की योजना और प्रचार के उद्देश्यों के साथ काम करता है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments