सितंबर में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2+2 मंत्रिस्तरीय बैठक आयोजित की जाएगी

भारत और ऑस्ट्रेलिया  सितंबर 2021 में अपनी पहली मंत्री स्तरीय 2+2 बैठक आयोजित करेंगे।

मुख्य बिंदु 

  • ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने और रक्षा मंत्री पीटर सितंबर में भारत और इंडोनेशिया के दौरे पर जायेंगे।
  • ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के सितंबर में न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के साथ-साथ क्वाड शिखर सम्मेलन स्तर की बैठक में भाग लेने की उम्मीद है।
  • कोविड -19 महामारी के बीच मारिस पायने और एस. जयशंकर के बीच एक वर्चुअल बैठक के दौरान इस बैठक की योजना बनाई गई थी।
  • क्वाड पहल के अलावा, ऑस्ट्रेलिया और भारत को भी कोविड-19 महामारी के कारण लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों से निपटना होगा।
  • रक्षा मंत्री पीटर डटन के भी क्वींसलैंड में तालीसमैन सेबर (Talisman Sabre) अभ्यास के अगले दौर में शामिल होने के लिए भारत को आमंत्रित करने की उम्मीद है।

2021 तालीसमैन सेबर अभ्यास (Talisman Sabre Exercise)

तालीसमैन सेबर अभ्यास में ऑस्ट्रेलिया, जापान, दक्षिण कोरिया और अमेरिका शामिल हैं इसका 2021 संस्करण हाल ही में अगस्त में संपन्न हुआ था। इसका अगला संस्करण 2023 में आयोजित किया जायेगा। यह ऑस्ट्रेलिया का सबसे बड़ा युद्ध अभ्यास है।

2+2 वार्ता क्या है?

‘2+2’ वार्ता (2+2 Dialogue) विदेशी सम्मेलनों द्वारा अपनाया गया एक शब्द है। इसका उपयोग आमतौर पर दो देशों के रक्षा और विदेश मंत्रालयों के बीच एक संवाद तंत्र स्थापित करने के लिए किया जाता है। इस प्रकार की वार्ता में दो देशों के रक्षा मंत्री और विदेश मामलों के मंत्री दोनों देशों के रणनीतिक और सुरक्षा हितों पर चर्चा करते हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments