सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया को मिली भारत में Sputnik V वैक्सीन के निर्माण की अनुमति

DGCI (Drugs Controller General of India) ने हाल ही में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया को भारत में स्पुतनिक-वी वैक्सीन के निर्माण की अनुमति दे दी है। अब इस रूसी वैक्सीन का निर्माण पुणे में किया जायेगा। इस कार्य के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया ने रूस के Gamaleya Research Institute of Epidemiology and Microbiology के सहयोग किया है।

वर्तमान में, भारत में स्पुतनिक-वी का निर्माण डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज द्वारा किया जा रहा है।

स्पुतनिक वी (Sputnik V)

  • इसे मॉस्को में गैम्लेया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी (Gamleya Research Institute of Epidemiology and Microbiology) द्वारा विकसित किया गया था।
  • यह दो खुराक वाला टीका है। हालांकि, हाल ही में रूस में स्पुतनिक वी के एकल खुराक टीके का उत्पादन किया गया है। इसे स्पुतनिक लाइट सिंगल डोज कहा जाता है। भारत केवल डबल खुराक स्पुतनिक वी का इस्तेमाल कर रहा है।
  • जबकि COVISHIELD एक कमजोर सामान्य एडेनोवायरस से बनाया गया है जो चिंपैंजी को प्रभावित करता है, स्पुतनिक वी को विभिन्न मानव एडेनोवायरस का उपयोग करके बनाया गया है।
  • इस वैक्सीन की प्रभावकारिता 91% है।
  • स्पुतनिक वी की पहली खुराक हैदराबाद में दी गई है।

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया (Serum Institute of India)

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया एक भारतीय बायोटेक्नोलॉजी और बायोफार्मास्यूटिकल कंपनी है। यह दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता है। यह महाराष्ट्र के पुणे में बेस्ड है। इसकी स्थापना 1966 में सायरस पूनावाला ने की थी। वर्तमान में इसके सीईओ अदार पूनावाला हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments