सुभद्रा कुमारी चौहान (Subhadra Kumari Chauhan) कौन थीं?

गूगल ने सुभद्रा कुमारी चौहान पर डूडल बनाकर उनकी 117वीं जयंती पर उन्हें सम्मानित किया है। सुभद्रा कुमारी चौहान एक महान कवयित्री व स्वतंत्रता सेनानी थीं।

सुभद्रा कुमारी चौहान (Subhadra Kumari Chauhan)

सुभद्रा कुमारी चौहान एक भारतीय कवयित्री थीं। उनकी सबसे लोकप्रिय कविताओं में से एक “झांसी की रानी”  है। उनका जन्म 16 अगस्त, 1904 को उत्तर प्रदेश के इलाहबाद में हुआ था। उन्होंने शुरू में इलाहाबाद के क्रॉस्थवेट गर्ल्स स्कूल में पढ़ाई की और 1919 में मिडिल-स्कूल की परीक्षा पास की। उन्होंने 1919 में खंडवा के ठाकुर लक्ष्मण सिंह चौहान से विवाह किया, उस समय वह 16 वर्ष की थीं।

1921 में, सुभद्रा कुमारी चौहान और उनके पति महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन में शामिल हुए । वह नागपुर में गिरफ्तार होने वाली पहली महिला सत्याग्रही थीं और 1923 और 1942 में ब्रिटिश शासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों में शामिल होने के कारण उन्हें दो बार जेल भी हुई थी।

वह राज्य विधान सभा (पूर्ववर्ती मध्य प्रांत) की सदस्य थीं।  1948 में सिवनी के पास एक कार दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी।

लेखन करियर

सुभद्रा कुमारी चौहान ने हिंदी कविता में कई लोकप्रिय रचनाएँ लिखीं। उनकी सबसे प्रसिद्ध रचना ‘झांसी की रानी’ है , जो रानी लक्ष्मी बाई के जीवन का वर्णन करने वाली कविता है। उनकी अन्य प्रमुख रचनाएँ इस प्रकार हैं : खिलौनेवाला, त्रिधारा, मुकुल, ये कदम्ब का पेड़, सीधे-साधे चित्र, मेरा नया बचपन और बिखरे मोती इत्यादि।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments