हरियाणा ने चिराग योजना (Cheerag Scheme) शुरू की

हरियाणा सरकार ने हाल ही में हरियाणा चिराग योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, सरकार निजी स्कूलों में सरकारी स्कूलों के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करेगी।

चिराग योजना (Cheerag Scheme)

  • चिराग योजना का अर्थ है, “Chief Minister Equal Education Relief, Assistance and Grant” (Cheerag)।
  • इसने 2007 में भूपिंदर सिंह हुड्डा की सरकार द्वारा शुरू की गई इसी तरह की योजना को बदल दिया है। यह योजना हरियाणा स्कूल शिक्षा नियम, 2003 के नियम 134 ए के अनुसार शुरू की गई थी।
  • चीराग योजना के तहत सरकारी स्कूल के छात्र कक्षा 2 वीं से 12 वीं तक निजी स्कूल में दाखिला ले सकते हैं । हालांकि इसके लिए माता-पिता की वार्षिक सत्यापित आय 1.8 लाख रुपये से कम होगी।
  • हरियाणा सरकार निम्न प्रकार से  भुगतान करेगी :

दूसरी से पांचवी कक्षा तक 700 रुपये प्रति छात्र

6वीं से 8वीं कक्षा में प्रति छात्र 900 रुपये

9वीं से 12वीं  कक्षा में प्रति छात्र 1,100 रुपये
गांवों और छोटे शहरों में लगभग 533 बजट निजी स्कूलों ने चिराग योजना के तहत आवेदन किया था। हालांकि, विभिन्न तकनीकी कारणों से केवल 381 स्कूल ही पात्र पाए गए। योग्य स्कूलों ने सरकारी स्कूलों के EWS छात्रों को 24,987 सीटें प्रदान कीं। लेकिन केवल 1665 छात्रों ने इस योजना को चुना है, जो कुल प्रदान की गई सीटों का 6.66% है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि वे स्कूल पास में नहीं हैं और कई सुविधाएं सरकारी स्कूलों में ही उपलब्ध हैं। 

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments