आपदा प्रबंधन पर 5वीं विश्व कांग्रेस (WCDM) : मुख्य बिंदु

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 24 नवंबर, 2021 को  वर्चुअली “आपदा प्रबंधन पर 5वीं विश्व कांग्रेस (WCDM)” का उद्घाटन किया।

मुख्य बिंदु

  • इस सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए, मंत्री ने कहा कि, भारतीय सशस्त्र बलों ने बार-बार प्रदर्शित किया है कि वे प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदाओं के बीच अंतर किए बिना भारत के भागीदारों की देखभाल करते हैं और उनके साथ खड़े रहते हैं।
  • उन्होंने सागर (SAGAR – Security and Growth for All in the Region) की अवधारणा द्वारा संक्षेप में हिंद महासागर के लिए भारत के दृष्टिकोण को दोहराया।
  • ‘सागर’ में विशिष्ट और अंतर-संबंधित दोनों तत्व शामिल हैं जैसे:
  1. तटीय राज्यों के बीच आर्थिक और सुरक्षा सहयोग को गहरा करना
  2. भूमि और समुद्री क्षेत्रों की सुरक्षा के लिए क्षमता बढ़ाना
  3. सतत क्षेत्रीय विकास और नीली अर्थव्यवस्था की दिशा में कार्य करना
  4. समुद्री डकैती, आतंकवाद और प्राकृतिक आपदाओं जैसे गैर-पारंपरिक खतरों से निपटने के लिए सामूहिक कार्रवाई को बढ़ावा देना।

IOR में भारत की सहायता

भारत ने हाल के वर्षों में हिंदी महासागर क्षेत्र (IOR) में उल्लेखनीय आपदा राहत मिशनों में से एक 2015 में यमन में “ऑपरेशन राहत” चलाया था। इस ऑपरेशन में, भारत ने 6700 से अधिक लोगों को बचाया, जिसमें 40 अन्य देशों के 1940 से अधिक नागरिक शामिल थे। भारत ने श्रीलंका में 2016 के चक्रवात, इंडोनेशिया में 2019 के भूकंप, जनवरी 2020 में मेडागास्कर में बाढ़ और भूस्खलन और मोजाम्बिक में चक्रवात इडाई के दौरान भी सहायता प्रदान की। भारत ने अगस्त 2020 में मॉरीशस में तेल रिसाव के साथ-साथ श्रीलंका में सितंबर 2020 में तेल टैंकर में आग लगने के दौरान भी तुरंत प्रतिक्रिया दी।

 आपदा प्रबंधन पर 5वीं विश्व कांग्रेस (WCDM)

यह सम्मेलन 24-27 नवंबर, 2021 के बीच IIT दिल्ली में आयोजित किया जा रहा है। इसका आयोजन “Technology, Finance and Capacity for Building Resilience to Disasters in the context of COVID-19” थीम के तहत किया जा रहा है। यह सम्मेलन आपदा प्रबंधन पहल और अभिसरण सोसायटी (Disaster Management Initiatives & Convergence Society -DMICS) की एक पहल है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments