1 जून: विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day)

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (Food and Agriculture Organization – FAO) द्वारा हर साल 1 जून को विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day) मनाया जाता है । यह दिन डेयरी क्षेत्र से जुड़ी गतिविधियों के प्रति जागरूकता और ध्यान आकर्षित करने के लिए मनाया जाता है।

मुख्य बिंदु

2001 में FAO द्वारा 1 जून को विश्व दुग्ध दिवस के रूप में मनाने के लिए चुना गया था। इस दिन को इसलिए चुना गया था क्योंकि कई अन्य देश उस विशेष दिन पर दुग्ध दिवस मना रहे थे।

भारत

भारत दूध का सबसे बड़ा उत्पादक है। 2011 के सर्वेक्षण के अनुसार, लगभग 70% दूध के नमूने FSSAI (भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण) द्वारा निर्धारित मानकों के अनुरूप थे।

राष्ट्रीय दुग्ध दिवस (National Milk Day)

भारत 26 नवंबर को राष्ट्रीय दुग्ध दिवस मनाता है। यह दिन 26 नवंबर को मनाया जाता है क्योंकि यह वर्गीज कुरियन (Verghese Kurien) की जयंती है। उन्हें भारत में दुग्ध क्रांति के जनक के रूप में जाना जाता है। भारत में ऑपरेशन फ्लड (Operation Flood) शुरू करना उनका विचार था।

ऑपरेशन फ्लड (Operation Flood)

ऑपरेशन फ्लड 1970 में शुरू किया गया था। इस ऑपरेशन का उद्देश्य देश में प्रति व्यक्ति दूध की उपलब्धता को दोगुना करना था। इस ऑपरेशन ने ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार पैदा करने में भी मदद की। इस ऑपरेशन की सफलता से भारत सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक बन गया।

 

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments