10 अगस्त: विश्व शेर दिवस (World Lion Day)

विश्व शेर (सिंह) दिवस (World Lion Day) हर साल 10 अगस्त को शेरों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। यह दिन शेर के संरक्षण के लिए समर्थन जुटाने का भी प्रयास करता है।

मुख्य बिंदु 

  • भारत एशियाई शेरों का घर है, जो सासन-गिर राष्ट्रीय उद्यान (Sasan-Gir National Park) के संरक्षित क्षेत्र में निवास करते हैं।
  • WWF के अनुसार, शेर कभी पूरे अफ्रीका, एशिया और यूरोप में पाए जाते थे। लेकिन अब इन महाद्वीपों में शेरों की संख्या कम हो गई है।

पृष्ठभूमि

शेरों की रक्षा की पहल 2013 में शुरू हुई थी इसलिए पहला विश्व शेर दिवस 2013 में ही मनाया गया था। तभी से यह दिन शेरों की रक्षा के लिए संघर्ष का प्रतीक बन गया। एशियाई शेरों की अंतिम शेष आबादी गुजरात के गिर राष्ट्रीय उद्यान में पाई जाती है।

एशियाई शेर (Asiatic Lions)

एशियाई शेर को वैज्ञानिक रूप से पेंथेरा लियो पर्सिका (Panthera leo persica) कहा जाता है। इनकी ऊंचाई लगभग 110 सेमी होती है। उन्हें वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम 1972 की अनुसूची I में सूचीबद्ध किया गया है और IUCN रेड लिस्ट में लुप्तप्राय प्रजातियों के रूप में माना जाता है। वयस्क नर शेर का वजन 160 से 190 किलोग्राम के बीच होता है और मादा का वजन 110 से 120 किलोग्राम के बीच होता है।

एशियाई शेरों की जनसंख्या

2020 में, गुजरात के गिर जंगलों में एशियाई शेरों की आबादी में लगभग 29% की वृद्धि हुई है। शेरों के वितरण क्षेत्र में भी 36% की वृद्धि हुई है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments