100 सबसे प्रदूषित शहरों में से 94 शहर भारत, चीन, पाकिस्तान में हैं : IQAir

वायु गुणवत्ता ट्रैकर ” IQAir” के अनुसार, वायु प्रदूषण दुनिया भर में लोगों के लिए सबसे बड़े स्वास्थ्य खतरों में से एक है।

मुख्य बिंदु

  • वायु प्रदूषण प्रतिवर्ष लगभग 70 लाख अकाल मृत्यु का कारण बनता है। इन मौतों में से 6,00,000 बच्चे हैं।
  • अकेले जीवाश्म ईंधन उत्सर्जन के कारण वायु प्रदूषण से वैश्विक अर्थव्यवस्था को हर साल 2.9 ट्रिलियन डॉलर से अधिक की लागत का अनुमान है।
  • यह गंभीर पर्यावरणीय समस्याओं की एक श्रृंखला में भी योगदान देगा।

वायु गुणवत्ता कैसे निर्धारित की जाती है?

वायु गुणवत्ता पीएम2.5, पीएम10, ओजोन, सल्फर डाइऑक्साइड, नाइट्रोजन डाइऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड जैसे वायु प्रदूषकों के स्तर को देखते हुए निर्धारित की जाती है।

IQAir डेटा

  • IQAir डेटा के अनुसार, भारत में 2020 में दुनिया के 100 सबसे प्रदूषित शहरों में से 46 शहर थे। भारत के बाद चीन (42 शहरों के साथ), पाकिस्तान (6 शहरों के साथ), बांग्लादेश (4 शहरों के साथ), इंडोनेशिया (1 शहर के साथ) और थाईलैंड (1 शहर के साथ) का स्थान है। 
  • इन सभी शहरों में PM2.5 की वायु गुणवत्ता रेटिंग 50 से अधिक थी।
  • दुनिया भर के शीर्ष 10 सबसे प्रदूषित शहरों में 9 भारत में हैं।
  • 2020 में, चीन के झिंजियांग प्रांत के होतान शहर में सबसे खराब औसत वायु गुणवत्ता 110.2 थी।

IQAir

IQAir एक स्विस वायु गुणवत्ता प्रौद्योगिकी कंपनी है। यह वायुजनित प्रदूषकों, वायु सफाई उत्पादों से सुरक्षा और वायु गुणवत्ता निगरानी विकसित करने में माहिर है। यह AirVisual भी संचालित करता है, जो एक रीयल-टाइम वायु गुणवत्ता सूचना मंच है। इसकी स्थापना 1963 में मैनफ्रेड और क्लॉस हैम्स ने की थी।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments