14 दिसम्बर से RTGS को बनाया जाएगा 24*7, जानिए क्या है RTGS?

भारतीय रिज़र्व बैंक ने हाल ही में घोषणा की है कि 14 दिसम्बर, 2020 से 24*7 बनाया जायेगा। हाल ही में हुई एक समीक्षा बैठक में आरबीआई ने इसके संकेत दिए थे।

पिछले कुछ समय में भारत सरकार डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है। इसी दिशा में जुलाई, 2019 से आरबीआई ने NEFT और RTGS पर शुल्क को समाप्त कर दिया था।

RTGS क्या है?

RTGS का पूर्ण स्वरुप Real-time gross settlement है। यह एक प्रकार की भुगतान प्रणाली है, इसका उपयोग अधिक मूल्य की ट्रांजेक्शन के लिए किया जाता है। RTGS के माध्यम से भुगतान के लिए न्यूनतम राशि 2 रूपए है, जबकि इस प्रणाली के माध्यम से भुगतान के लिए कोई अधिकतम सीमा नही है।

NEFT क्या है?

NEFT  का पूर्ण स्वरुप National Electronic Funds Transfer है। यह एक इलेक्ट्रॉनिक फण्ड ट्रान्सफर सिस्टम है, इसे नवम्बर, 2005 में शुरू किया गया था। NEFT के द्वारा बैंक ग्राहक किसी दूसरे बैंक खाते में पैसे भेज सकते हैं। NEFT धन हस्तांतरण का समायोजन हर आधे घंटे बाद करता है। 11 जून को भारतीय रिज़र्व बैंक ने NEFT लेनदेन पर लगाए जाने वाले शुल्क को हटाने की घोषणा की थी, यह निर्णय 1 जुलाई, 2019 से लागू हो गया है। इससे पहले NEFT से किये जाने वाले लेनदेन पर मामूली शुल्क लिया जाता था, 10,000 रुपये तक के लेनदेन पर 2.50 रुपये शुल्क लगता था, जबकि 10,000 से एक लाख रुपये तक के लेनदेन पर 5 रुपये का शुल्क लगता था।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments