15 जनवरी को मनाया गया तिरुवल्लुवर दिवस

15 जनवरी 2021 को तिरुवल्लुवर दिवस मनाया गया। यह तमिलनाडु में पोंगल समारोह के एक भाग के रूप में मनाया जाता है। तिरुवल्लुवर  एक प्रसिद्ध कवि और दार्शनिक थे।

मुख्य बिंदु

यह तमिल कवि और दार्शनिक तिरुवल्लुवर के सम्मान में मनाया जाता है। तिरुवल्लुवर “थिरुक्कू” नामक रचना के लिए जाना जाता है। यह नैतिकता, प्रेम आर्थिक और राजनीतिक मामलों पर दोहों का एक संग्रह है। पहला तिरुवल्लुवर दिवस 1935 में 17 और 18 मई को मनाया गया था। हालांकि कवि तिरुवल्लुवर के बारे में ज्यादा जानकारी उपलब्ध नही है, वह चौथी शताब्दी में रहते थे।

इस मौके पर पीएम मोदी ने तिरुवल्लुवर को भी याद किया और युवाओं से कुराल को पढ़ने का आग्रह किया। कुराल 1330 दोहों का एक संग्रह है जिसे तिरुवल्लुवर द्वारा लिखा गया था।

एक मंदिर भी तिरुवल्लुवर को समर्पित है। यह एकाम्बारेश्वर मंदिर परिसर के भीतर चेन्नई के मायलापुर में बनाया गया था। यह मंदिर 16वीं शताब्दी की शुरुआत में बनाया गया था। “वल्लुवर कोटम” नामक एक मंदिर-स्मारक  चेन्नई में वर्ष 1976 में बनाया गया था। मंदिर-स्मारक एशिया में सबसे बड़े सभागारों में से एक है। कन्याकुमारी में थिरुवल्लुवर की 133 फुट ऊंची प्रतिमा भी है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments