2 दिसम्बर : राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस

प्रतिवर्ष 2 दिसम्बर को राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस मनाया जाता है, इस दिवस उन लोगों की स्मृति में मनाया जाता है जिनकी मृत्यु आज के दिन 1984 में भोपाल गैस त्रासदी में हुई थी।

उद्देश्य

  • बढ़ते हुए वायु प्रदूषण के बारे में जागरूकता फैलाना तथा लोगों को औद्योगिक आपदाओं को नियंत्रित व प्रबंधित करने के बारे में शिक्षित करना।
  • लोगों को वायु प्रदूषण अधिनियमों के बारे में जागरुक करवाना।
  • औद्योगिक प्रदूषण को रोकने के लिए कार्य करना।

हाल ही में यूएस एयर क्वालिटी इंडेक्स जारी किया गया। इस सूचकांक के अनुसार, लाहौर ने 423 PM  (particulate matter) की रेटिंग दर्ज की गयी। इस सूची में पाकिस्तान की वित्तीय राजधानी कराची 7वें स्थान पर रही। नई दिल्ली ने 229 PM  के साथ दूसरा सबसे अधिक प्रदूषित शहर रहा, जबकि नेपाल की राजधानी काठमांडू 178 पीएम के साथ तीसरा सबसे अधिक  प्रदूषित शहर है।

भोपाल गैस त्रासदी

2020 में भोपाल गैस त्रासदी के 36 वर्ष पूरे हो गये हैं। भोपाल गैस त्रासदी 2 दिसम्बर, 1984 को घटी थी। इस घटना में अत्याधिक ज़हरीली गैस मिथाइल आइसोसायनेट का रिसाव यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड के कीटनाशक प्लांट के आस-पास के क्षेत्र में हुआ था। आधिकारक डाटा के अनुसार इस घटना में 2,259 लोगों की मृत्यु हुई थी।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments