2021-2022 में भारत की विकास दर 9% रहेगी : अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने 25 जनवरी, 2022 को अपना विश्व आर्थिक आउटलुक (World Economic Outlook) जारी किया।

रिपोर्ट के प्रमुख निष्कर्ष

  • इस रिपोर्ट के अनुसार, वैश्विक आर्थिक विकास पहले के अनुमान से आधा प्रतिशत कम हो जाएगा।
  • वृद्धि 2021 में 5.9% से घटकर 2022 में 4.4% हो जाएगी। यह 2023 में और कम होकर 3.8% हो जाएगी।

भारत का विकास

  • IMF के पूर्वानुमान के अनुसार, भारत 2021-2022 में 9% की दर से बढ़ेगा। अक्टूबर 2021 के अनुमान में, IMF ने वर्ष के लिए भारत की विकास संभावनाओं को 9.5% पर अनुमानित किया था। IMF ने अब 2022-23 में भारत की अर्थव्यवस्था के लिए 9% की वृद्धि का अनुमान लगाया है। अक्टूबर के आकलन में, 2022-23 में 8.5% और 2023-24 में 7.1% की वृद्धि का अनुमान लगाया गया था।
  • 2023 के लिए भारत की संभावनाओं का अनुमान ऋण वृद्धि में अपेक्षित सुधारों के आधार पर लगाया गया है।

ओमिक्रोन का प्रभाव

IMF के अनुसार, ओमिक्रोन कोविड -19 संस्करण के विस्तार के बीच, देशों ने गतिशीलता प्रतिबंध फिर से लागू कर दिए हैं। अमेरिका और अन्य विकासशील अर्थव्यवस्थाओं और उभरते बाजारों में ऊर्जा की कीमतों में वृद्धि और आपूर्ति में व्यवधान के परिणामस्वरूप अपेक्षा से अधिक  व्यापक-आधारित मुद्रास्फीति हुई है। 

वैश्विक विकास पर विश्व बैंक

हाल ही में, विश्व बैंक ने भी 2022 में इसे 4.1% पर रखते हुए वैश्विक विकास में मंदी की भविष्यवाणी की थी।

 

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments