29 जून: राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस (National Statistics Day)

रोजमर्रा की जिंदगी में सांख्यिकी के प्रयोग को लोकप्रिय करने के लिए, हर साल 29 जून को राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस (National Statistics Day) के रूप में मनाया जाता है।  29 जून को प्रो. प्रशांत चंद्र महालनोबिस द्वारा राष्ट्रीय सांख्यिकीय प्रणाली स्थापित करने में किये गये योगदान को सम्मानित करने के लिए चुना गया था। 29  जून प्रो. पी.सी. महालनोबिस की जयंती है।

राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस वर्ष 2007 में पहलोई बार मनाया गया था, विश्व सांख्यिकी दिवस 20 अक्तूबर को मनाया जाता है।

दिवस का उद्देश्य

यह दिवस देश के नागरिकों को जागरूक करने के लिए मनाया जा रहा है कि सांख्यिकी नीतियों को आकार देने और तैयार करने में कैसे मदद करती है। सांख्यिकी (Statistics) सही विश्लेषण और डेटा एकत्र करने के उचित तरीकों के माध्यम से परिणाम को प्रभावी ढंग से प्रस्तुत करने में हमारी सहायता करती है।

प्रो. पी.सी. महालनोबिस (Prof. P C Mahalanobis)

1968 में पद्म विभूषण से सम्मानित प्रोफेसर पी.सी. महालनोबिस (Prof P.C Mahalanobis) के सांख्यिकी के क्षेत्र में योगदान को दुनिया भर में मान्यता प्राप्त है। उन्होंने 1947 से 1951 तक सांख्यिकीय नमूनाकरण पर संयुक्त राष्ट्र उप आयोग के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया ।

1931 में, प्रो. पीसी महालनोबिस ने ISI-भारतीय सांख्यिकी संस्थान (ISI औपचारिक रूप से अप्रैल 1932 में पंजीकृत) की स्थापना की। स्वतंत्रता के बाद, ISI द्वारा एक व्यापक सामाजिक-आर्थिक राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण डिजाइन और योजना बनाई गई थी, इस सर्वेक्षण के लिए- राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण (NSS) उनके द्वारा वर्ष 1950 में स्थापित किया गया था। आज तक, देश में नमूना सर्वेक्षणों के संग्रह के लिए NSS भारत सरकार की प्रमुख एजेंसी है।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments