ABDM के साथ ई-संजीवनी (eSanjeevani) का एकीकरण किया गया

3 जून, 2022 को, राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (National Health Authority – NHA) ने घोषणा की कि सरकार की ‘ई-संजीवनी’ टेलीमेडिसिन सेवा को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के साथ एकीकृत किया गया है।

मुख्य बिंदु

  • यह एकीकरण मौजूदा ई-संजीवनी यूजर्स को आसानी से अपना आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता (ABHA) बनाने में मदद करेगा।
  • यूजर्स इसका उपयोग अपने मौजूदा स्वास्थ्य रिकॉर्ड को जोड़ने और प्रबंधित करने के लिए भी कर सकेंगे।
  • यूजर्स ई-संजीवनी पर अपने स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डॉक्टरों के साथ साझा कर सकते हैं, जो बदले में बेहतर नैदानिक ​​निर्णय लेने और देखभाल की निरंतरता सुनिश्चित करने में मदद करेगा।
  • आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का उद्देश्य भारत में मौजूदा डिजिटल स्वास्थ्य समाधानों और हितधारकों के बीच की खाई को पाटने के लिए डिजिटल राजमार्गों का निर्माण करना है।

एकीकरण का महत्व

इससे लोग ई-संजीवनी पर अपने पहले से जुड़े स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डॉक्टरों के साथ साझा करने में भी सक्षम होंगे। इस प्रकार, पूरी परामर्श प्रक्रिया कागज रहित हो जाएगी।

ई-संजीवनी सेवा के प्रकार

ई-संजीवनी सेवा दो प्रकारों में उपलब्ध है:

  1. eSanjeevani Ayushman Bharat-Health and Wellness Center (AB-HWC)- यह एक डॉक्टर-टू-डॉक्टर टेलीमेडिसिन सेवा है, जिसके उपयोग से स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र में जाने वाले लाभार्थी एक तृतीयक स्वास्थ्य सेवा के रूप में कार्य करने वाले हब में डॉक्टरों से वर्चुअली जुड़ सकेंगे। यह सरकार को ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ अलग-थलग पड़े समुदायों में सामान्य और विशिष्ट स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने में सक्षम बनाएगा।
  2. eSanjeevani OPD – यह प्लेटफॉर्म पूरे भारत में मरीजों को उनके घरों से सीधे डॉक्टरों से जोड़कर उनकी सेवा कर रहा है।

ई-संजीवनी सेवाओं के दोनों प्रकारों को ABDM प्लेटफॉर्म के साथ एकीकृत किया गया है। इस एकीकरण के साथ, यह प्लेटफार्म अब अन्य 40 डिजिटल स्वास्थ्य एप्लीकेशंस में शामिल हो गया है जिन्होंने अपना ABDM एकीकरण पूरा कर लिया है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments