CCoV-HuPn-2018 कोरोनावायरस क्या है?

CCoV-HuPn-2018 कोरोनावायरस, कुत्तों में इसकी उत्पत्ति के साथ, मलेशिया में 2017-2018 में निमोनिया से पीड़ित रोगियों में पाया गया था। इस अध्ययन के अनुसार, यह मनुष्यों में आठवां कोरोनावायरस रोग हो सकता है। हालांकि, यह वर्तमान में महामारी के जोखिम पैदा नहीं करता है।

मामला क्या है?

शोधकर्ताओं ने पूर्वी मलेशियाई राज्य सरवाक (Sarawak) के एक अस्पताल में निमोनिया के 301 रोगियों के नेज़ल स्वाब (nasal swab) के नमूनों का परीक्षण किया था। 5 साल से कम उम्र के बच्चों के नमूनों सहित आठ नमूनों में कैनाइन कोरोनावायरस (canine coronavirus) के लिए सकारात्मक परीक्षण किया गया था। CCoV-HuPn-2018 नाम का एक नया स्ट्रेन इसकी जीनोमिक सीक्वेंसिंग में पाया गया, जिसमें कोरोनावायरस जैसी समान विशेषताएं थीं, जो बिल्लियों और सूअरों में संक्रमण पैदा करती हैं। हालांकि, यह ज्यादातर संक्रमित कुत्तों से मिलता जुलता है।

आनुवंशिक उत्परिवर्तन (Genetic Mutation)

इस वायरस में एक आनुवंशिक विलोपन (genetic deletion), या उत्परिवर्तन (mutation) भी शामिल था जो किसी भी कैनाइन कोरोनावायरस में नहीं पाया गया था, यह SARS-COV और SARS-COV-2 जैसे मानव उपभेदों में मौजूद था।

Severe Acute Respiratory Syndrome Coronavirus 2 (SARS‑CoV‑2)

यह वायरस COVID-19 (Coronavirus Disease 2019) और सांस की अन्य बीमारी का कारण बनता है। यह एक सकारात्मक-सेंस सिंगल-स्ट्रैंडड RNA वायरस है। यह मनुष्यों में संक्रामक है। SATS-CoV-1 में इसका उत्तराधिकारी, जिसके कारण 2002-2004 SARS का प्रकोप हुआ था। इसकी उत्पत्ति जूनोटिक है और यह आनुवंशिक रूप से बैट कोरोनावायरस (bat coronavirus) के समान है।

2002-2004 सार्स प्रकोप (2002–2004 SARS Outbreak)

यह एक महामारी थी जिसमें severe acute respiratory syndrome (SARS) शामिल था, जो severe acute respiratory syndrome coronavirus (SARS-CoV-1) के कारण हुआ था। यह प्रकोप पहली बार नवंबर 2002 में चीन में देखा गया था।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments