Co-WIN ने KYC-VS नामक नया API विकसित किया

केंद्र सरकार ने CoWin प्लेटफॉर्म पर किसी व्यक्ति के कोविड टीकाकरण की स्थिति तक पहुंचने के लिए 10 सितंबर, 2021 को आधार जैसी प्रमाणीकरण प्रणाली की घोषणा की।

मुख्य बिंदु 

  • यह नया एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफ़ेस (API) CoWin द्वारा विकसित किया गया है। इसे ‘Know Your Customer’s or Client’s Vaccination Status’ अथवा KYC-VS कहा जाता है।
  • आवश्यकता पड़ने पर किसी भी तृतीय-पक्ष सत्यापन इकाई के साथ साझा करने से पहले व्यक्तिगत डेटा की सुरक्षा के लिए API को एक अतिरिक्त सुरक्षा परत के रूप में विकसित किया गया था।

टीकाकरण की स्थिति तक कैसे पहुंचा जा सकता है?

व्यक्ति के टीकाकरण की स्थिति तक पहुंचने के लिए, उसका पंजीकृत मोबाइल नंबर और नाम सत्यापनकर्ता इकाई द्वारा दर्ज किया जाना चाहिए ताकि वन-टाइम पासवर्ड या ओटीपी उत्पन्न हो सके। यह दो-परत प्रमाणीकरण CoWin को टीकाकरण की स्थिति पर तुरंत प्रतिक्रिया देने में सक्षम करेगा।

  • यह 0 दिखाएगा, यदि व्यक्ति का टीकाकरण नहीं हुआ है
  • यदि व्यक्ति को आंशिक रूप से टीका लगाया गया यह 1 दिखायेगा
  • अगर व्यक्ति को पूरी तरह से टीका लगाया गया तो यह 2 दिखायेगा

टीकाकरण पर रिपोर्ट डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित होगी और सत्यापन करने वाली संस्था द्वारा तुरंत साझा की जा सकती है।

कोविन पोर्टल (CoWin Portal)

CoWIN को “Covid Vaccine Intelligence Network” कहा जाता है। यह वेब पोर्टल भारत सरकार द्वारा COVID-19 टीकाकरण पंजीकरण के लिए विकसित किया गया था। इसका स्वामित्व व संचालन स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा किया जाता है। यह पोर्टल आस-पास के क्षेत्रों में COVID-19 वैक्सीन के बुकिंग स्लॉट प्रदर्शित करता है और इसके माध्यम से स्लॉट को बुक किया जा सकता है। इस पोर्टल को आरोग्य सेतु और उमंग ऐप के साथ भी जोड़ा गया है। यह डिजिटल रूप से सत्यापन योग्य प्रमाणपत्र भी प्रदान करता है, जिसे किसी डिवाइस या डिजी लॉकर पर डिजिटल रूप से सहेजा जा सकता है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments