COVID-19 पर मंत्रियों के समूह की 26वीं बैठक आयोजित की गयी

17 मई, 20121 को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने कोविड-19 पर मंत्रियों के समूह की 26वीं बैठक की अध्यक्षता की।

बैठक के प्रमुख परिणाम

  • Co-WIN पोर्टल हिंदी में उपलब्ध कराया जायेगा।साथ ही इसे 14 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध कराया जाएगा।
  • INSACOG (Indian SARS CoV-2 Genomics Consortium) नेटवर्क मेंलगभग 17 और प्रयोगशालाओं को जोड़ा जाएगा। इन प्रयोगशालाओं को COVID-19 वेरिएंट की निगरानी के लिए जोड़ा जा रहा है। वर्तमान में इस नेटवर्क में 10 प्रयोगशालाएं हैं।
  • म्यूकोर्मिकोसिस (Mucormycosis)नामक COVID-19 ब्लैक फंगस संक्रमणों के इलाज के लिए एम्फोटेरिसिन-बी (Amphotericin-B) के निर्माण को बढ़ाया जायेगा।

मुख्य बिंदु

इस बैठक के दौरान निम्नलिखित पर प्रकाश डाला गया:

  • 1.617 और B.1.1.7 वैरिएंटपंजाब और चंडीगढ़ से एकत्र नमूनों में प्रमुख थे।
  • अधिक RT-PCR मोबाइल परीक्षण तैनात किए गए और RAT (Rapid Antigen Tests)को बढ़ाया गया।

दवाओं का उत्पादन और आवंटन

इस बैठक में बताया गया कि निर्माताओं को दवाओं का उत्पादन बढ़ाने की सलाह दी गई है। दवाओं के उत्पादन और आवंटन में मुद्दों को हल करने के लिए तीन आयामी रणनीतियां अपनाई गईं। वे इस प्रकार थे:

  • नए आपूर्तिकर्ताओं की पहचान करना और आपूर्तिकर्ताओं के सामने आने वाली परिचालन संबंधी समस्याओं का समाधान करना
  • राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को दवाओं का तर्कसंगत वितरण।साथ ही सप्लाई चेन की लगातार मॉनिटरिंग की जाएगी।
  • कालाबाजारी के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

COVID-19 दवाएं

  • भारत सरकार ने टोसीलिज़ुमैब (Tocilizumab), रेमेडेसिविर (Remdesivir) और एम्फोटेरिसिन-बी (Amphotericin-B) की खरीद और आवंटन पर जोर दिया।
  • इस बैठक में यह अधिसूचित किया गया कि फ़ेविपिराविर (Favipiravir) की मांग बढ़ गई, हालांकि COVID-19 चिकित्सा दिशानिर्देशों में इसकी अनुशंसा नहीं की गई थी।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments