DAC ने स्टार्टअप्स से खरीद को मंजूरी दी

पहली बार, रक्षा अधिग्रहण परिषद (Defence Acquisition Council – DAC) द्वारा Innovations for Defence Excellence (iDEX) स्टार्ट-अप्स से खरीद के लिए 380.43 करोड़ रुपये मूल्य की 14 वस्तुओं को मंजूरी दी गई है। भारतीय नौसेना, थल सेना और वायु सेना इन सभी सामानों की खरीद करेगी।

मुख्य बिंदु 

  • DAC द्वारा एक नई और सरल प्रक्रिया के लिए भी मंजूरी दी गई है ताकि MSMEs  और  iDEX स्टार्ट-अप से खरीद को फ़ास्ट ट्रैक किया जा सके।
  • नई प्रक्रिया के अनुसार, खरीद चक्र 22 सप्ताह का होगा।
  • मेक-II श्रेणी के तहत परियोजनाओं के लिए प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए DAC द्वारा स्वीकृति भी दी गई। इससे मेक-II परियोजनाओं में अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के लिए प्रोटोटाइप विकसित करने में लगने वाले समय को कम करने में मदद मिलेगी।
  • सशस्त्र बलों के लिए पूंजी अधिग्रहण के लिए स्वीकृति की आवश्यकता (Acceptance of Necessity – AoN) भी DAC द्वारा प्रदान की गई थी और यह राशि 8,357 करोड़ रुपये है।
  • DAC के अनुसार, सशस्त्र बल अपनी सभी आवश्यक आवश्यकताओं को स्वदेशी रूप से हासिल करना चाहते हैं और आयात केवल एक असाधारण मामले के दौरान ही किया जाएगा।
  • AoN for Capital Acquisition समझौते के तहत लाइट वेहिकल GS 4X4, नाइट साइट (इमेज इंटेंसिफायर), जीसैट 7बी सैटेलाइट और एयर डिफेंस फायर कंट्रोल रडार (लाइट) खरीदे जाएंगे।

वर्ष के अंत तक कितनी वस्तुओं की खरीद की जाएगी?

iDEX स्टार्ट-अप द्वारा सफलतापूर्वक प्रोटोटाइप बनाये जाने के बाद वर्ष के अंत तक लगभग 25 से 40 आइटम खरीद के लिए तैयार हो जाएंगे।

iDEX

पीएम मोदी ने देश के सशस्त्र बलों में नवाचारों को बढ़ावा देने और उन्नत तकनीकों को शामिल करने के उद्देश्य से 2018 में iDEX कार्यक्रम शुरू किया था। iDEX MSMEs, व्यक्तिगत नवप्रवर्तनकर्ताओं, स्टार्ट-अप, R&D संस्थानों आदि की भागीदारी के माध्यम से रक्षा और एयरोस्पेस क्षेत्रों में तकनीकी विकास और नवाचारों को बढ़ावा देना चाहता है।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments