DRDO ने पिनाका रॉकेट (Pinaka Rockets) का सफल परीक्षण किया

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने “पिनाका” रॉकेट के विस्तारित रेंज संस्करण का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। 25 जून को ओडिशा के चांदीपुर में इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (ITR) में यह परीक्षण किया गया।

मुख्य बिंदु

  • DRDO ने अलग-अलग पर लक्ष्य के विरुद्ध 25 उन्नत पिनाका रॉकेटों का परीक्षण किया।
  • 122 मिमी कैलिबर के इस रॉकेट को मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्चर (MBRL) की मदद से लॉन्च किया गया था।
  • लक्ष्य से टकराने वाले रॉकेटों की सटीकता की जांच करने के लिए, सभी उड़ान को विभिन्न रेंज उपकरणों द्वारा ट्रैक किया गया।

उन्नत पिनाका रॉकेट सिस्टम (Enhanced Pinaka Rocket System)

High Energy Materials Research Laboratory (HEMRL) के सहयोग से पुणे स्थित Armament Research and Development Establishment (ARDE) द्वारा पिनाका रॉकेट सिस्टम का उन्नत रेंज संस्करण विकसित किया गया है। उन्हें Economic Explosives Limited, नागपुर से मैन्युफैक्चरिंग सपोर्ट मिला। यह सिस्टम 45 किलोमीटर तक की दूरी पर रखे गए लक्ष्यों को नष्ट कर सकती हैं।

पिनाका (Pinaka)

यह एक स्वदेशी मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्च सिस्टम है। इसे भारतीय सेना के लिए रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा विकसित किया गया है। इसकी हथियार प्रणाली में अत्याधुनिक गाइडेंस किट शामिल है, इसमें एडवांस्ड नेविगेशन और नियंत्रण प्रणाली है। इस मिसाइल को नेविगेशन प्रणाली भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (IRNSS) द्वारा सहायता प्रदान की गयी है। इस हथियार प्रणाली के प्रारंभिक संस्करण को मार्क I कहा जाता था, जिसकी सीमा 40 किमी थी। पिनाका मार्क II नामक उन्नत मिसाइल में इस सीमा को 70 से 80 किलोमीटर तक बढ़ाया गया था।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments