EWS मानदंड की समीक्षा के लिए पैनल का गठन किया गया

भारत सरकार ने हाल ही में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (Economically Weaker Section – EWS) समीक्षा पैनल का गठन किया है। यह पैनल सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 10% आरक्षण के मानदंडों पर विचार करेगा।

यह पैनल क्या करेगा?

  • यह पैनल EWS श्रेणी का निर्धारण करने वाले मानदंडों की समीक्षा करेगा।
  • यह EWS श्रेणी की पहचान करने में अपनाए जाने वाले दृष्टिकोणों की जांच करेगा।
  • यह देश में EWS की पहचान करने के लिए एक नए मानदंड का विश्लेषण और सिफारिश करेगा।

इस पैनल का गठन क्यों किया गया?

भारत सरकार से सुप्रीम कोर्ट के सवाल के बाद पैनल का गठन किया गया था। सुप्रीम कोर्ट ने पूछा था कि, “किस कारण से केंद्र सरकार कोटा पात्रता 8 लाख रुपये तय कर रही है?” ओबीसी (अन्य पिछड़ी जाति) के अंतर्गत आने वाले व्यक्ति के लिए उसकी आय सीमा 8 लाख रुपये प्रति वर्ष से कम होनी चाहिए। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सवाल उठाया था।

वर्तमान में EWS की पहचान कैसे की जाती है?

उक्त 8 लाख रुपये मानदंड के अलावा निम्नलिखित व्यक्ति:

  • पांच एकड़ कृषि भूमि के मालिक
  • 1,000 वर्ग फुट के आवासीय भूखंड का मालिक
  • अधिसूचित नगर पालिकाओं में 100 वर्ग फुट के आवासीय भूखंड का मालिक
  • अधिसूचित नगर पालिकाओं के अलावा अन्य क्षेत्रों में 200 वर्ग गज के आवासीय भूखंड का मालिक

10% ईडब्ल्यूएस कोटा पाने के लिए पात्र नहीं हैं।

OBC आरक्षण और EWS आरक्षण में क्या अंतर है?

  • अन्य पिछड़ा वर्ग वर्ग के गैर-क्रीमी लेयर के लिए ओबीसी आरक्षण प्रदान किया जाता है। उन्हें 27% आरक्षण मिलता है। EWS आरक्षण “सामान्य वर्ग” के लिए है। वे ओबीसी, एससी या एसटी के अंतर्गत नहीं आते हैं।
  • ओबीसी में, पति या पत्नी की आय का मानदंड शामिल नहीं है। लेकिन EWS के मामले में यह शामिल है।

अनुच्छेद 15 के तहत गठित पैनल

अनुच्छेद 15 (4) कहता है कि राज्य को सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्गों या अनुसूचित जनजातियों या अनुसूचित जाति की उन्नति के लिए विशेष प्रावधान करने से कोई नहीं रोक सकता है।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments

  • B s Rana
    Reply

    Kaindra sarkar se vinti hai ki 6 lakh warshik aay walo ko hi E W S k patre ho aur 100 gaj 200 gaj plot ki jagah 100 warg meter shahri 200warg meter gramin aur 5 aikad bhumi ki jageh 2aikad bhumi walo ko hi 10% Rejarvashan mile

  • Pawan Kumar
    Reply

    Kewal financial help for study material deni chahiye,kyonki financial weak students ko study ke liye equal karna hai,jis sey weak students ko bhi wahi study meterial mile wo Rich students ko milta hai,na ki jobs mey Reservation,Ishwar ne dimag(Brain) sabko equal diya hai
    Kewal Finance se weak hain log, na ki brain se

    So need help in finance

    So Is taraf kadam badhaye,jis sey ki sabhi students equal qualified ho sakey

  • Pramod kumar
    Reply

    Businessman ke kiye koi mapdand nahi hai,
    In Business, people who are earning lacs of Rupees in a year , and not paying income tax , are not covered in these 3 conditions.

  • Amita
    Reply

    Age relaxation is must for ews category। rest community in india taking benefit of reservation on the basis of caste and they are having good economic conditions why not economic parameter should apply for them is a concern for honourable supreme court

  • Deepa
    Reply

    Main Delhi ki nahrik hu…or manniy mukymantri ji ke dwara chlayi gyi yojna jisme baccho ke admission ews base per acche schools me ho sakte hai usme apne bacche ke liye koshish kr rhi hu pichle 4saal se or har baar mujse jaati prmaan ptr manga jata hai ek samany varg ka garib vyakti ummeed lekr jata hai ki uska baccha b acche school me padh sake per vha b jati praman patr mang kr..aisa lagta hai AAP garib hai to Kya sc ya obc to nhi ..jaiye yha se sarkari yojnaye sirf naam ki hi hai bss

  • Soumen
    Reply

    No need 10% reservation, we need Age relaxation for govt exam like UPSC.

  • Naveen Tiwari
    Reply

    Bhai jis ke pass kuch nhi h bo kya kare ga

  • Jay Sharma
    Reply

    Aarakshan band kro sbka sirf yogyata ko variyata do

  • Dinendra sajwan
    Reply

    kya Sarkari karmchari ka aarakshit bhi ews Kote ka haqdar hai

    • Hans Raj Thakur

      सरकारी कर्मचारियों को EWS का लाभ नहीं मिलता।