Global Task Force on Pandemic क्या है?

Global Task Force on Pandemic ने हाल ही में घोषणा की कि वह तीन तत्काल कार्रवाई करने के लिए यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम (US-India Strategic Partnership Forum) और यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (US-India Business Council) के साथ मिलकर काम कर रही है।

3 तत्काल कार्य क्या हैं?

  • हजार वेंटिलेटर डिलीवर करना।
  • 25,000 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर भेजा।
  • Chief Human Resources Officer India Action Group का निर्माण करना। यहसमूह भारतीय लोगों की मदद करने के लिए व्यावहारिक जानकारी और विचार प्रदान करेगा।

Global Task Force on Pandemic Response

  • लगभग 40 शीर्ष अमेरिकी कंपनियों Global Task Force on Pandemic Response के गठन के लिए हाथ मिलाया है। यह बल भारत को बड़े पैमाने पर COVID-19 आपातकालीन राहत सामग्री प्रदान करेगा।
  • इसका गठन संसाधनों को जुटाने और वितरित करने के लिए किया गया है।
  • Global Task Force on Pandemic Response एक नई सार्वजनिक-निजी साझेदारी है। यह यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स (US Chamber of Commerce) द्वारा आयोजित किया जाता है और बिजनेस राउंडटेबल (Business Roundtable) द्वारा समर्थित है।
  • हाल ही में तीन भारतीय-अमेरिकी इस बल में शामिल हुए हैं। वे हैं :
    • गूगल से सुंदर पिचाई
    • डेलॉयट से पुनीत रेनजेन
    • एडोबी से शांतनु नारायण
  • टास्क फोर्स वेंटीलेटर पहल में 16 से अधिक बिज़नस शामिल हुए हैं।
  • सभी व्यवसाय भारत की स्वास्थ्य सेवा को 30 मिलियन डालर की सहायता प्रदान करेंगे।

यूएस कॉरपोरेट सेक्टर द्वारा योगदान

अमेरिका के कॉरपोरेट सेक्टर ने अब तक 25,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स भेजे हैं।

भारत को अमेरिका की COVID मदद

United States Agency for International Development (USAID) ने हाल ही में घोषणा की कि यह भारत को 100 मिलियन डालर की सहायता भेजेगी। इसमें 440 ऑक्सीजन सिलेंडर, 9,60,000 रैपिड डायग्नोस्टिक परीक्षण शामिल हैं। इसके अलावा, अमेरिका ने भारत को एस्ट्राजेनेका विनिर्माण आपूर्ति की 20 मिलियन COVID-19 खुराक को भेजा है। साथ ही, अमेरिका एंटी वायरल दवा रेमेडेसिविर के 20,000 ट्रीटमेंट कोर्स प्रदान करेगा।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments