HP ने समुद्र के प्लास्टिक कचरे से कंप्यूटर का निर्माण किया

कंप्यूटर निर्माता एचपी ने समुद्र में प्लास्टिक कचरे का उपयोग करके अपना पहला कंप्यूटर विकसित किया है।

मुख्य बिंदु

यह कदम कंपनी की स्थिरता प्रतिबद्धता के आधार पर बनाया गया था। कंपनी ने महासागर के प्लास्टिक का उपयोग करते हुए Pavilion 13, Pavilion 14 और  Pavilion 15 लैपटॉप का निर्माण किया है। कंपनी का अनुमान है कि इस तरह के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में प्लास्टिक का उपयोग करने के परिणामस्वरूप महासागरों और लैंडफिल से लगभग 92,000 प्लास्टिक की बोतलें इस्तेमाल होंगी। लैपटॉप को पैक करने के लिए उपयोग किए जाने वाले बाहरी बक्से और फाइबर कुशन भी 100% रिसाइकिल सामग्री के साथ बनाए गये हैं। एचपी के अनुसार, इन पैवेलियन पीसी में वाई-फाई 6 हैं जो वाई-फाई की गति को चार गुना तक बढ़ा देगा।

HP Pavilion 13

यह लैपटॉप सिल्वर और सिरेमिक व्हाइट रंगों में उपलब्ध है। इसकी कीमत 71,999 रुपये रखी गई है। इसमें 1TB SSD के i5 और i7 वेरिएंट हैं। यह फुल एचडी है और 8.5 घंटे तक की बैटरी लाइफ देता है।

HP Pavilion 14

यह लैपटॉप सिल्वर, सेरामिक व्हाइट और ट्रेंक्विल पिंक कलर में आता है। इसकी कीमत 62,999 रुपये रखी गई है। यह i5 और i7 वेरिएंट में आता है जिसमें 1TB SSD शामिल है।

HP Pavilion 15

यह लैपटॉप सिल्वर कलर में आता है जिसकी शुरुआती कीमत 67,999 रुपये है।

प्लास्टिक प्रदूषण

यह वन्यजीवों, वन्यजीवों के आवास और मनुष्यों पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। प्लास्टिक प्रदूषण भूमि, जलमार्ग और महासागरों को प्रभावित कर सकता है। एक अनुमान के अनुसार, प्रति वर्ष तटीय समुदायों से 1.1 से 8.8 मिलियन टन प्लास्टिक कचरा समुद्र में प्रवेश करता है।

Categories:

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments