IDBI में रणनीतिक विनिवेश और प्रबंधन नियंत्रण का स्थानांतरण

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हाल ही में रणनीतिक विनिवेश और आईडीबीआई बैंक में प्रबंधन नियंत्रण के हस्तांतरण को मंजूरी दी।

वर्तमान परिदृश्य

भारत सरकार के पास आईडीबीआई बैंक में 45.48% हिस्सेदारी, LIC (लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन) के पास 49.24% हिस्सेदारी है। 2019 में, LIC ने बैंक में 21,624 करोड़ रुपये का निवेश किया था। यह IDBI का वर्तमान प्रमोटर है और भारत सरकार को-प्रमोटर है।

पृष्ठभूमि

केंद्रीय बजट 2020-21 के दौरान, वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने निजीकरण और राज्य के स्वामित्व वाली कंपनियों में अल्पसंख्यक हिस्सेदारी की बिक्री से 2.1 लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य की घोषणा की।

योजना क्या है?

रणनीतिक खरीदार भारत और एलआईसी पर निर्भरता के बिना अधिक व्यवसाय उत्पन्न करने के लिए निवेश करेगा।

वार्षिक विनिवेश लक्ष्य

जनवरी 2021 तक, विनिवेश के माध्यम से केवल 14,000 करोड़ रुपये जुटाए गए, जबकि लक्ष्य 2.1 लाख करोड़ रुपये था।

विनिवेश की आवश्यकता क्यों है?

आर्थिक सुधार में सहायता करने के लिए और स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए सरकार को साधनों की आवश्यकता है। यह गैर-सामरिक क्षेत्रों में भारत सरकार की भागीदारी की आवश्यकता को समाप्त कर देगा।

DIPAM

DIPAM का अर्थ Department of Investment and Pubic Asset Management (निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग) है। यह सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में रणनीतिक बिक्री के लिए नोडल विभाग है। इससे पहले, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की पहचान नीति आयोग  द्वारा की जाती थी।

विनिवेश विभाग (Department of Disinvestment) का नाम बदलकर 2016 में DIPAM कर दिया गया था।

विनिवेश और रणनीतिक विनिवेश

विनिवेश का अर्थ सार्वजनिक उद्यमों में सरकार की हिस्सेदारी को कम करना है। रणनीतिक विनिवेश का अर्थ नियंत्रण किसी अन्य इकाई के लिए स्थानांतरित करना है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments